[roorkee] - कोटिकरण में अनियमितता का आरोप

  |   Roorkeenews

रुड़की। उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन भेजकर गलत गुणांक के आधार पर स्कूलों का कोटिकरण करने आरोप लगाया है। उन्होंने ब्लॉक के कई स्कूलों का हवाला देते हुए डीएम से राहत दिलाने की अपील की है। स्थानांतरण नियमावली के लिए स्कूलों का कोटिकरण कराया गया है। इसमें रुड़की ब्लॉक के 107 प्राथमिक स्कूलों में से मात्र 11 स्कूलों को भौगोलिक परिस्थिति के आधार पर दुर्गम घोषित किया गया है, जबकि अन्य को सुगम घोषित किया गया है। इस पर उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ खफा है। संघ के पदाधिकारियों ने डीएम दीपक रावत को ज्ञापन भेजकर बताया कि कोटिकरण के तहत स्कूलों को जो गुणांक दिए गए हैं, उनमें भारी अनियमितताएं हैं। इसके चलते अधिकतर स्कूलों को सुगम घोषित किया गया है। पदाधिकारियों का कहना है कि अकबरपुर झोझा गांव को सुगम घोषित किया गया है, जबकि इसके आसपास के झबरेड़ी खुर्द, हरजोली झोझा, भिस्तीपुर आदि को दुर्गम घोषित किया गया है, जबकि सभी की भौगोलिक स्थिति एक समान है। बताया कि टांडा राघडवाला को दुर्गम और आसपास के रांघडवाला, गुम्मावाला और माजरी गांव को सुगम घोषित किया गया है, जबकि इन स्कूलों की भौगोलिक परिस्थितियां समान है, तो स्कूलों को एक श्रेणी में क्यों नहीं रखा गया है। पदाधिकारियों ने स्कूलों के कोटिकरण में अनियमितता का आरोप लगाते हुए राहत दिलाने की मांग की है। ज्ञापन भेजने वालों में ब्लॉक अध्यक्ष मनमोहन शर्मा, कोषाध्यक्ष राजेंद्र कुमार सैनी, पंकज कुमार विश्रोई आदि शामिल थे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/sfzhogAA

📲 Get Roorkee News on Whatsapp 💬