[agra] - कारखानों में हड़ताल जारी, त्रिपक्षीय वार्ता विफल

  |   Agranews

फिरोजाबाद। मेहनताना बढ़ाने के लिए सोमवार से ब्लोइंग कारखानों में शुरू हुई हड़ताल शुक्रवार को लगातार पांचवें दिन जारी रही। श्रमिकों के काम पर नहीं लौटने से कारखानों में सन्नाटा पसरा रहा। सेवायोजको के साथ हुई वार्ता विफल हो गई।

अप्रैल माह की शुरुआत से ब्लोइंग कारखाने हड़ताल की जद में हैं। श्रमिकों ने 30-50 रुपये तक मेहनताना बढ़ाने की मांग को लेकर बिना मांग पत्र के औजार छोड़ दिए थे। हजारों श्रमिकों की काम बंद हड़ताल से चूड़ी कारख्रानों में उत्पादन ठप हो गया है। सेवायोजकों द्वारा रुचि नहीं लेने से हड़ताल खुलने के आसार नजर नहीं आ रहे।

शुक्रवार को राजा का ताल स्थित पीतांबरा ग्लास वर्क्स, नगला भाऊ औद्योगिक आस्थान में श्रीनाथ ग्लास वर्क्स, मातेश्वरी ग्लास वर्क्स, स्टेशन रोड स्थित राघव ग्लास, बाइपास रोड स्थित कोहिनूर ग्लास, मौढ़ा स्थित आकाशदीप ग्लास वक्र्स, मक्खनपुर में चार कारखानों में काम बंद हड़ताल से सन्नाटा पसरा रहा। कुछ कारखानों में काम होने से सेवायोजक और श्रमिकों ने राहत की सांस ली।

चूड़ी कारखानों में पांच दिनों से चल रही कामबंद हड़ताल के संबंध में सहायक श्रमायुक्त राजीव कुमार सिंह ने शुक्रवार को त्रिपक्षीय वार्ता बुलाई। मजदूरी बढ़ोत्तरी के संबंध में सहायक श्रमायुक्त, सेवायोजक आौर श्रमिक पक्ष के बीच करीब डेढ़ घंटे तक चली वार्ता बेनतीजा रही। सहायक श्रमायुक्त ने कहा कि श्रमिकों की समस्या दूर करने के लिए उद्यमी आपस में वार्ता कर बताएं। 12 अप्रैल को दोबारा हड़ताल के संबंध में वार्ता होगी।

एएलसी ने स्पष्ट कहा है कि दोनों पक्ष शांति बनाए रखें। हड़ताल के संबंध में दोनों पक्षों की सहमति पर नियमानुसार कार्रवाई होगी। सेवायोजक पक्ष से बिन्नी मित्तल, मनोज मित्तल, विकास अग्रवाल, श्रमिक पक्ष से मंत्री भूरी सिंह यादव, का. नवल सिंह एडवोकेट मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/CxKXPQAA

📲 Get Agra News on Whatsapp 💬