[aligarh] - आंधी से भड़की चिंगारी, सैकड़ों बीघे फसल राख

  |   Aligarhnews

क्षेत्र के सिकंदरपुर माछुआ तथा ढसन्ना गांव के बीच शुक्रवार को देर शाम अचानक खेतों में गेहूं और गन्ने की फसल में आग लग गई। इसी दौरान तेज अंधड़ के चलते इस आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। देखते ही देखते सैकड़ों बीघे फसल आग की भेंट चढ़ गई। सर्वाधिक नुकसान गेेहूं की फसल को हुआ है, जबकि कुछ फसल गन्ने की भी नष्ट हुई है। इस आग में करीब एक करोड़ रुपये से अधिक के नुकसान की बात कही जा रही है। पुलिस ने चिंगारी से फसल में आग लगने की आशंका जताई है।

शुक्रवार देर शाम लगभग सात बजे सिकंदरपुर माछुआ तथा ढसन्ना के बीच खेतों में लपटें उठने लगीं। ढसन्ना की ओर से बढ़ती हुई आग की लपटें ज्यों ही सिकंदरपुर गांव के नजदीक पहुंची तो ग्रामीणों में कोहराम मच गया। सिकंदरपु्र और ढसन्ना समेत आसपास के कई गांव के निवासी मिट्टी और पानी डालकर आग बुझाने की कोशिश में जुट गए। गांव से करीब सौ मीटर पहले ही करीब 12-13 ट्रैक्टरों के जरिए खेतों की जुताई गांव वालों ने शुरू कर दी जिससे गांव में पहुंचने से आग रुक गई।

सूचना पर तालानगरी से पहुंची दमकल ने गांव की दिशा में फैली आग पर बमुश्किल काबू पाया। इस दौरान अतरौली तथा अलीगढ़ से भी दो दमकलें मौके पर पहुंच गईं। इन दमकलों ने आग को फैलने से रोका।

अग्निकांड की सूचना पर भाजपा विधायक ठा. रवेंद्र पाल सिंह तथा ठा. दलवीर सिंह भी मौके पर पहुंच गए। अग्निकांड से पीड़ित किसानों को ढांढस बंधाते हुए जल्द से जल्द आर्थिक मदद दिलाने का वादा किया। उन्होंने जिलाधिकारी से फोन पर बात की। मौके पर पहुंचे एसडीएम कोल डा. पंकज वर्मा ने भी किसानों को नुकसान का मुआवजा दिलाने की बात कहते हुए हल्का लेखपाल से जल्द से जल्द नुकसान की जांच कर रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए हैं।

इस दौरान कई गांव के हजारों लोग मौके पर मौजूद थे। उन्होंने बताया कि इससे पहले इतने बडे़ पैमाने पर क्षेत्र में अग्निकांड कभी नहीं हुआ। थानाध्यक्ष डॉ. विनोद सिंह का कहना है कि ढसन्ना गांव की ओर से उठी चिंगारी से आग लगने का अनुमान है, स्पष्ट कारण जांच पड़ताल के बाद ही पता चल सकेगा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/rJDJiAAA

📲 Get Aligarh News on Whatsapp 💬