[aligarh] - बच्चे की मौत, तड़पते मरीज को उसके भाग्य पर छोड़ा

  |   Aligarhnews

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, अलीगढ़।

जेएन मेडिकल कॉलेज में जूनियर डॉक्टरों (रेजीडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन) की हड़ताल लगातार नौवें दिन भी जारी रही। इसकी वजह से जनपद की स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। अस्पताल में एक बच्चे की मौत हो गई। जबकि दर्द से तड़पते चंदौसी से आए एक मरीज को उसके भाग्य पर छोड़ दिया गया।

एएमयू प्रशासन एवं जिला प्रशासन की चेतावनी के बावजूद जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल जारी है। लगातार नौ दिन से चल रही हड़ताल के कारण मरीजों पर दुख का पहाड़ टूट गया है।

शुक्रवार को उपचार के लिए भर्ती एक बच्चे की मौत हो गई। जबकि संभल के थाना बनियाठेर के गांव गुमथल से दर्द से तड़पते आए युवक सुरेश को बिना उपचार दिए ही वापस लौटा दिया गया।

वह पेट दर्द से बेहद परेशान था। वहीं ओपीडी में 1600 मरीज पहुंचे। जेएन मेडिकल कॉलेज के आसपास प्राइवेट नर्सिंग होम एवं लैब के दलाल अपना जाल बिछाकर घूम रहे हैं। दूर-दराज से आने वाले मरीज को बेहतर उपचार का झांसा देकर अपने साथ ले जाने का प्रयास कर रहे हैं। कुछ कामयाब भी हो रहे हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/foYYvgAA

📲 Get Aligarh News on Whatsapp 💬