[aligarh] - सरकारी नीतियों के विरोध में आज बंद रहेंगे निजी स्कूल

  |   Aligarhnews

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, अलीगढ़।

केंद्र एवं राज्य सरकारों की नीतियों के खिलाफ आज जनपद के तमाम निजी एवं कान्वेंट स्कूल बंद रहेंगे। इसके साथ ही यहां के स्कूल संचालक नेशनल इंडिपेंडेंट स्कूल अलाइंस (नीसा) के शिक्षा बचाओ आंदोलन के समर्थन में दिल्ली के रामलीला मैदान में आयोजित सभा में शामिल होंगे।

पहली बार ऐसा हो रहा है कि देश भर के स्कूल संचालक एक साथ स्कूल बंद कर सड़क पर उतर रहे हैं। इसमें अलीगढ़ जनपद के भी करीब 75 से अधिक निजी, कान्वेंट एवं अल्पसंख्यक स्कूल संचालक शामिल हो रहे हैं।

इन स्कूलों में करीब एक लाख से अधिक बच्चे पढ़ते हैं। इस आंदोलन को पब्लिक स्कूल डेवलपमेंट सोसाइटी एवं पब्लिक स्कूल्स वेलफेयर एसोसिएशन का पूरा समर्थन प्राप्त है।

पब्लिक स्कूल डेवलपमेंट सोसाइटी के अध्यक्ष प्रवीण अग्रवाल एवं पब्लिक स्कूल्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष यतींद्र मोहन झा ने आंदोलन का समर्थन कर दिया है।

यतेंद्र मोहन झा ने कहा कि गुणवत्ता के कारण ही प्राइवेट स्कूलों में प्रवेश का दबाव बनता है। सरकारी स्कूल सुविधाओं के अभाव तथा शिक्षण के प्रति उदासीनता के पर्याय बन गए हैं।

जन आक्रोश सरकार द्वारा जनता के पैसे से बनाए गए विद्यालयों के सुधार और उच्चीकरण के लिए होना चाहिए। इस व्यापक दृष्टिकोण से समिति ने 7 अप्रैल को बंदी का समर्थन किया है। उल्लेखनीय है कि दोनों एसोसिएशन में जनपद के अधिकतर निजी एवं कान्वेंट स्कूल आते हैं।

अधिकतर सीबीएसई स्कूल अध्यादेश के दायरे में
शुल्क निर्धारण अध्यादेश के मुताबिक निजी स्कूल न तो मनमानी फीस वसूल सकेंगे और न ही पांच साल से पहले यूनिफार्म बदल सकेंगे। यूपी स्ववित्तपोषित स्वतंत्र विद्यालय (शुल्क का निर्धारण) अध्यादेश 2018 को योगी कैबिनेट द्वारा मंजूरी दी चुकी है। इसके दायरे में 20 हजार रुपये से अधिक सालाना फीस वाले सभी स्कूल आएंगे। इस दृष्टि से जिले के अधिकतर सीबीएसई स्कूल अध्यादेश के दायरे में आ रहे हैं। इस अध्यादेश से भी स्कूल संचालक दहशत में हैं। गोलबंदी का एक प्रमुख कारण इसे भी माना जा रहा है। हालांकि स्कूल संचालक खुलकर कुछ भी बोलने से कतरा रहे हैं। गत दिनों शहर की पुस्तक दुकानों पर छापेमारी के बाद स्कूल संचालकों में भी खलबली मच गई है। लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ZlEpgQAA

📲 Get Aligarh News on Whatsapp 💬