[fatehpur] - प्रदेश सरकार ने डार्कजोन से विद्युत कनेक्शन का प्रतिबंध हटाया

  |   Fatehpurnews

अमर उजाला ब्यूरो
फतेहपुर। सिंचाई की समस्या का सामना कर रहे जिले के किसानों को बड़ी राहत मिली है। प्रदेश सरकार ने भूजल स्तर गिर जाने पर डार्क जोन में शामिल ब्लाकों से विद्युत कनेक्शन पर प्रतिबंध हटा दिया है। जरूरतमंद किसान अब नलकूप के लिए आवेदन कर सकेंगे।

जिले में डार्क जोन की समस्या से किसान एक दशक से जूझ रहे थे। जिले के 13 में से आठ ब्लाक अभी भी डार्क जोन की श्रेणी में हैं। जिले में सबसे पहले अमौली ब्लाक डार्क जोन घोषित किया गया। धीरे-धीरे नौ ब्लाक डार्क जोन हो गए। जो चार ब्लाक बचेहैं, उनको भी जलस्तर में संवेदनशील रखा गया। डार्क जोन में आते ही किसानों को नलकूप के कनेक्शन देना बंद कर दिया गया। सिंचाई के साधन न होने से किसान असिंचित फसल बोने लगे।

कुछ किसानों ने पंपिंग सेट खरीद कर तालाब, पोखरों से सिंचाई करने का जरिया बना लिया। इससे कृषि की लागत बढ़ी। जिले की नहरें भी समय से सिंचाई का साधन नहीं बन पा रही हैं। इससे किसान काफी परेशान थे। शासन के निर्देश पर जिले के सभी ब्लाकों में विद्युत कनेक्शन की हरी झंडी मिल गई है। किसान नलकूप के अपने खंड कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं। विद्युत विभाग आवेदन के बाद जांच करेगा और फिर इस्टीमेट बनाएगा। इस्टीमेट के अनुसार धनराशि जमा करने के बाद कनेक्शन मिलेगा। अधिशासी अभियंता एसडी सिंह ने बताया कि निजी नलकूपों के कनेक्शन से प्रतिबंध हट गया है। विद्युत कनेक्शन में बोरिंग प्रमाण पत्र व खतौनी जमा कर विभाग से रसीद कटवाना पड़ेगा। बोरिंग प्रमाणपत्र के अनुसार विभागीय अधिकारी, कर्मचारी जांच करेंगे। सही पाए जाने पर इस्टीमेट बनेगा। इसके बाद विद्युत कनेक्शन मिलेगा।

फतेहपुर। शासन की भूजल रिपोर्ट ने हथगाम ब्लाक को डार्क जोन से बाहर कर दिया है। आठ ब्लाक डार्क जोन की श्रेणी में हैं। भारत सरकार के भूजल विभाग ने हसवा, तेलियानी, मलवां, बहुआ, भिटौरा, ऐरायां, अमौली, धाता ब्लाक कोे डार्क जोन में रखा है। हथगाम को 10 जनवरी को डार्क जोन से बाहर कर दिया है। इसके अलावा विजयीपुर, असोथर, खजुहा और देवमई ब्लाक डार्क जोन से बाहर हैं।

भाकियू जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह गौतम ने कहा कि डार्कजोन ब्लाकों में विद्युत कनेक्शन जारी कर प्रदेश सरकार ने किसानों के हित में काम किया है। इससे जरूरतमंद किसान नलकूप लगवा सकेंगे। सिंचाई की व्यवस्था दुरुस्त होने से फसलों की पैदावार अधिक होगी। किसान फसल समय से सींच सकेगा। इससे किसानों को बहुत बड़ी राहत मिलेगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/yvNsGAAA

📲 Get Fatehpur News on Whatsapp 💬