[hamirpur] - विषाक्त भोजन खाने से चालक व क्लीनरों की हालत बिगड़ी

  |   Hamirpurnews

क्षेत्र के बक्छा गांव केन नदी की खदान में गुरुवार को विषाक्त भोजन खाने से करीब एक दर्जन ट्रक चालक व क्लीनर बीमार हो गए। सभी को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। बक्छा खदान शुरू होते ही प्रतिदिन सैकड़ों ट्रक वहां पहुंचने लगे। जिनमें मजदूरों के साथ आधा दर्जन से अधिक मशीनों से बालू भरे जाने का कार्य होने लगा।

खदान में कार्यरत दर्जनों लोगों को भोजन मुुहैया कराने के लिए संचालकों ने अपना भोजनालय बनाया है। वहीं, दूसरी ओर मौरंग भरे जाने के इंतजार में खड़े रहने वाले ट्रकों के चालकों क्लीनरों के लिए एक ढाबा भी खोला गया। भोजन खाकर बीमार हुए ट्रक चालक व क्लीनरों के मुताबिक गुरुवार सुबह गांव वालों का लाया भोजन खाने से इनकी हालत खराब होने लगी।

पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने सभी को एक लोडर में लादकर कस्बे के अस्पताल में भर्ती कराया। सुरेंद्र पुत्र रामस्वरूप हरबल पुरवा उन्नाव, यहीं का सोनू यादव (35) पुत्र रामगोपाल यादव, शिवसिंह (25) पुत्र मोहन शम्भुआ कानपुर, कुलदीप बेहोशी हालत में कुछ भी नहीं बता सका, दीपक (30) बेहोशी हालत में, मुनेश पुत्र रामप्रकाश पचखुरा, दीपू द्विवेदी बेहोशी हालत में, करन (32) बेहोशी हालत में, राजेंद्र (50) पुत्र रामऔतार, अशोक (45) पुत्र चंद्रपाल निवासी हमीरपुर का इलाज जारी है।

ट्रकों के मालिकों व परिजनों को भी सूचना दी गई है। अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अनिल सचान ने बताया कि बक्छा खदान से लाए गए सभी मरीज बेहोशी हालत में थे कुछ पर ज्यादा असर था। कहा कि हो सकता है कि कोई जहरीला पदार्थ इनके खाने में मिल गया हो। यूपी 100 कर्मियों ने बताया कि इनके कपडे़ अस्त-व्यस्त थे जिससे यह भी हो सकता कि खदान में मिलने वाली जहरीली शराब भी इसका कारण हो सकती है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/3-hEVQAA

📲 Get Hamirpur (UP) News on Whatsapp 💬