[hamirpur] - शादी के बंधन तक पहुंचा दोनों का प्यार

  |   Hamirpurnews

सोमवार की रात पुल से छलांग लगाकर जान देने की कोशिश करने वाले प्रेमी युगल के प्रेम का सुखद अंत हो गया। दोनों के परिजनों की आखिरकार सहमति के बाद दोनों परिणय सूत्र में बंध गए। पुलिस ने आर्य समाज मंदिर से दोनों की शादी करा दी।

महोबा के खन्ना थानाक्षेत्र के चिचारा गांव निवासी अनुराग गुप्ता (28) पुत्र मंगली प्रसाद गुप्ता कानपुर में नमस्ते इंडिया कंपनी में दस साल से काम कर रहा है, जहां उसकी कानपुर के उस्मानपुर केशव नगर मोहल्ला की काजल गुप्ता पुत्री वेद प्रकाश से मुलाकात हुई। जल्द ही परिचय प्रेम संबंध में बदल गया। पुलिस के अनुसार, युवती की मां पुष्पा व पिता वेदप्रकाश इस मेलमिलाप से नाराज थे। काजल ने बताया कि सोमवार को परिजनों ने उसे मारा पीटा। इसके बाद वह बीएससी का पेपर देने को कह प्रेमी के साथ चली गई। सोमवार की रात दोनों यमुना पुल पर बाइक खड़ी कर कूद गए थे

मौके पर अपर जिलाधिकारी कुंज बिहारी अग्रवाल, एसडीएम राहुल यादव व कोतवाल शैल कुमार पहुंचे। पुलिसकर्मियों प्रिंस मिश्रा व नीशू गुप्ता ने नदी से बाहर निकाला। इधर 181 महिला हेल्पलाइन की सुगमकर्ता नेहा सोनकर, शोभना वर्मा, ममता कुशवाहा भी टीम के साथ विधि सह परीवेक्षा अधिकारी आरती सिंह व दीप्ती शुक्ला कोतवाल के एसआई संगीत के साथ आकर पहुंचे। दोनों के बयान लेकर माता पिता को बुलाया गया।

उनकी सहमति होने पर शादी रचाने का फैसला लिया गया। महिला हेल्पलाइन की टीम ने प्रेमी प्रेमिका का विवाह आर्य समाज मंदिर में उनके माता पिता व पुलिस के बीच कराया। आर्यसमाज मंदिर के दिनेशचंद्र आर्य, रामबिहारी शुक्ला ने हिंदू रीति रिवाज से विवाह संपन्न कराया। वहीं प्रेमी प्रेमिका का विवाह सुनकर शिवसेना के प्रदेश उपप्रमुख रतन ब्रह्मचारी व जनक सिंह मौजूद रहे। वहीं शादी समारोह में युवक के पिता मंगली प्रसाद ने शादी समारोह में युवक युवती को कपड़े व जयमाला सहित मंगलसूत्र की व्यवस्था की।

पुलिस ने युवती के पर्स से आधार कार्ड व युवक के बाइक के कागज से परिजनों को सूचना देकर बुलाया। नदी में भीगे प्रेमीयुगल को व्यापार मंडल अध्यक्ष धीरेंद्र गुप्ता ने दुकान खुलवाकर कपड़े दिलावाए।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Y9KiIAAA

📲 Get Hamirpur (UP) News on Whatsapp 💬