[hapur] - पुलिस उत्पीडन के विरोध में कलक्ट्रेट पहुंची हजारों महिलाएं

  |   Hapurnews

पुलिस उत्पीड़न के विरोध में हजारों महिलाओं ने किया हंगामा

हापुड़। उपद्रवियों की धरपकड़ के दौरान निर्दोषों को उत्पीड़ित करने का पुलिस पर आरोप लगाते हुए हजारों महिलाएं पुरानी कलक्ट्रेट पर एकत्र हो गई। महिलाओं ने पुलिस पर निर्दोष लोगों को गिरफ्तार करने, महिलाओं-युवतियों के साथ अभद्रता करने व छोड़ने के लिए रुपये मांगने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। इस दौरान उन्होंने वहां खूब हंगामा किया। महिलाओं की भारी संख्या को देखकर कलक्ट्रेट को छावनी में तब्दील कर दिया। करीब एक घंटे तक यहां जमे रहने के बाद महिलाओं ने सीओ को ज्ञापन सौंपा।
दो अप्रैल को हुए बवाल के बाद चिन्हित आरोपियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई कर रही है। इसमें महिलाओं का आरोप है कि इसमें निर्दोषों को भी निशान बनाया जा रहा है। इसी के खिलाफ शुक्रवार को बड़ी संख्या में महिलाएं पुरानी कलक्ट्रेट पहुंच कर खूब हंगामा किया। महिलाओं का कहना था कि पुलिस बवाल मामले में बेकसूर लोगों को परेशान कर रही है। रात के समय दबिश देकर युवकों और पुरुषों को उठा लेती हैं। दबिश के दौरान घर पर किसी व्यक्ति के न मिलने पर महिलाओं के साथ अभद्रता की जाती है। इसके अलावा पुलिस द्वारा घरों में तोड़फोड़ की जाती है।
महिलाओं के कलक्ट्रेट की ओर आने की सूचना पर पुलिस और प्रशासन के हाथ पांव फूल गए। इस दौरान कोतवाली, बाबूगढ़ व देहात पुलिस के साथ आरएएफ मौके पर पहुंच गई। पुरानी कलक्ट्रेट परिसर को छावनी में तब्दील कर दिया गया। मौके पर सीओ राजेश कुमार व तहसीलदार केके सिंह भी पहुंच गए। इस दौरान महिलाओं और पुलिस की काफी देर तक बहस होती रही। महिलाओं ने चेतावनी दी कि पुलिस का उत्पीड़न नहीं रुका तो दलित महिलाएं सामूहिक रूप से अर्धनग्न होकर प्रदर्शन करेंगी। सीओ ने आश्वासन दिया कि किसी भी निर्दोष के खिलाफ कार्रवाई नहीं होगी। इस दौरान करीब एक घंटे तक यहां जमे रहने के बाद महिलाएं नारेबाजी करते हुए लौट गई।
तहसील पर जाम लगाने का किया प्रयास
महिलाएं दिल्ली रोड स्थित विभिन्न मोहल्लों से जुलूस के रूप में पुरानी कलक्ट्रेट की ओर बढ़नी शुरू हुई। इस दौरान बवाल में चूक होने के बाद पुलिस इस बार पहले से ही सतर्क थी। इसलिए तहसील चौपला पर पहुंचने पर महिलाओं ने जाम लगाने का प्रयास किया, लेकिन आरएएफ और पुलिस फोर्स को देखकर महिलाओं का मूड बदल गया। कलक्ट्रेट पर भी बड़ी संख्या में फोर्स मौजूद थी। इस कारण महिलाओं ने अधिक हंगामा नहीं किया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QSqtLwAA

📲 Get Hapur News on Whatsapp 💬