[kullu] - अब कुल्लू पुलिस मोबाइल एप से रात्रि गश्त पर रखेगी निगरानी

  |   Kullunews

अब एप से तय किया जाएगा कहां लगाई जाए गश्त
कुल्लू पुलिस मोबाइल एप से रात्रि गश्त पर रखेगी निगरानी
मोबाइल एप तैयार करने के लिए इंजीनियर की हो रही है तलाश
गश्त टीम उपस्थित है, क्या कर रही है, पर भी रहेगी नजर
अमर उजाला ब्यूरो
कुल्लू। अब कुल्लू पुलिस रात्रि गश्त पर कड़ी निगरानी रखेगी। इसके लिए कुल्लू पुलिस मोबाइल एप बनाने जा रही है। एप से रात्रि गश्त पर नजर रखी जाएगी। वहीं एप से तय किया जाएगा कि कहां गश्त लगाई जाए? एप में दुर्घटनाओं समेत अन्य घटनाओं को लेकर डाटा से गश्त के सही जगहों को तय किया जाएगा। एप बनाने के लिए कुल्लू पुलिस इंजीनियर स्टूडेंट्स या इच्छुक लोगों से संपर्क साधने की अपील की है।
कुल्लू जिला में रात्रि के दौरान चोरी समेत किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए रोजाना रात्रि को गश्त की जाती है। इसमें सुधार के लिए तकनीकी तौर पर आईपीएस अधिकारी शालिनी अग्निहोत्री बदलाव करना चाह रही है। सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए यह बदलाव करने के लिए ही मोबाइल एप तैयार किया जा रहा है। इसमें इलाके से संबंधित हर प्रकार का डाटा फीड होने पर गश्त का स्थान तय होगा। इसी के साथ मोबाइल एप के सहारे से गश्त उपस्थित है या क्या कर रही है पर भी निगरानी रखने की योजना है। कई बार रात्रि गश्त सही न होने के आरोप शहरवासी लगाते रहे हैं, ऐसी शिकायतों पर शिकंजा कसने के लिए एप को डिवेल्प किया जा रहा है। इंजीनियर से संपर्क होने के बाद एप का सही खाका तैयार होगा और एप के माध्यम से शहर में लोगों को सुरक्षित माहौल प्रदान किया जाएगा।
इधर, एसपी कुल्लू शालिनी अग्निहोत्री ने बताया कि रात्रि गश्त के लिए मोबाइल एप बनाने की योजना है। इस संबंध में इंजीनियर्स को संपर्क साधने के लिए कहा गया है। गश्त में सुधार के लिए एप का सहारा लिया जाएगा। जनता की बेहतरी के लिए हर संभव पग उठाए जा रहे हैं। इसमें जन सहयोग भी अपेक्षित है।

संदिग्धों पर रखी जाती है नजर
रात्रि गश्त के दौरान संदिग्धों पर नजर रखी जाती है। गश्त के दौरान संदिग्ध से पुलिस कई बार शक के आधार पर पूछताछ भी करती है। कई बार पुलिस को गश्त के दौरान चरस समेत अन्य मामले पकड़ने में भी कामयाबी मिलती है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/3ggS2QAA

📲 Get Kullu News on Whatsapp 💬