[kurukshetra] - रिश्वत मामले मे आरोपी को 5 साल कैद की सजा

  |   Kurukshetranews

रिश्वत मांगने पर जीआरपी दारोगा को पांच साल की कैद, एक लाख जुर्माना
अमर उजाला ब्यूरो
कुरुक्षेत्र।
झूठे केस में फंसाने का डर दिखाकर 50 हजार रुपये की रिश्वत लेने आरोपी जीआरपी थाना के दरोगा को दोषी करार देते हुए पांच साल कैद और एक लाख रुपये जुर्माने की सजा सुनाई गई है। यह आदेश अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश गुरविंद्र कौर ने दिए। उप न्यायवादी जसबीर सिंह ढांडा ने बताया कि 5 अप्रैल 2015 को जिला हिसार के सिसाय बोलान निवासी कुलदीप सिंह ने विजिलेंस निरीक्षक को दी शिकायत में बताया था कि कुरुक्षेत्र जीआरपी थाने के एएसआई शीशपाल ने शिकायतकर्ता के भाई सुरेंद्र सिंह को झूठे केस में फंसाने का डर दिखाकर 50 हजार रुपये की मांग की थी। इस सूचना पर विजिलेंस टीम, ड्यूटी मजिस्ट्रेट और शिकायतकर्ता के साथ एएसआई शीशपाल द्वारा बताए गए स्थान कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन पर पहुंची थी। यहां पर शिकायतकर्ता ने आरोपी एएसआई को पाउडर लगे और हस्ताक्षर वाले 1-1 हजार रुपये के नोट दिये थे, जिसके तुरंत बाद ड्यूटी मजिस्ट्रेट और निरीक्षक विजिलेंस ने आरोपी को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के साथ आरोपी एएसआई शीशपाल के खिलाफ थाना विजिलेंस अंबाला में पीसी एक्ट (भ्रष्टाचार निषेध अधिनियम) के तहत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। यह मामला अतिरिक्त एवं सत्र न्यायाधीश गुरविंद्र कौर की अदालत में विचाराधीन था। अदालत ने आरोपी एएसआई को दोषी करार देते हुए पीसी एक्ट ( भ्रष्टाचार निषेध अधिनियम) की धारा 7 के तहत 4 साल कैद और 50 हजार रुपये जुर्माना तथा धारा 13 की उपधारा 1 व 2 के तहत 5 वर्ष की कैद वह 50 हजार रुपये की सजा सुनाई है। जुर्माना न भरने की सूरत में 1 वर्ष की अतिरिक्त सजा काटनी होगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ba8yyAAA

📲 Get Kurukshetra News on Whatsapp 💬