[mandi] - वल्लभ कॉलेज मंडी के परिसर में ही बनेगा क्लस्टर विवि

  |   Mandinews

मंडी। प्रदेश के पहले क्लस्टर विवि का विधेयक पारित होते ही निर्माण की प्रक्रिया ने भी तेजी पकड़ ली है। विवि के लीड वल्लभ कॉलेज परिसर में क्लस्टर विवि के दो ब्लॉक का निर्माण होगा। प्रशासनिक कार्यालयों के साथ इन दोनों भवनों में क्लास रूम, लैब, सेमिनार हॉल, एग्जाम हॉल, मूफकोट रूम (लॉ विभाग का डेमो न्यायालय) और मल्टीपर्पस हॉल का निर्माण भी किया जाएगा। एक ब्लाक पांच मंजिला और दूसरा ब्लाक छह मंजिला होगा। दोनों ब्लाक एक दूसरे से ब्रिज के माध्यम से जुड़े होंगे। वहीं, मुख्य भवन में लिफ्ट का निर्माण भी किया जाएगा। इसका नक्शा लोनिवि ने तैयार कर लिया है। वल्लभ कॉलेज प्रशासन ने लोनिवि विभाग को पत्र लिख कर पैसे ट्रांसफर करने के लिए फार्म मांगे है। सोमवार तक पांच करोड़ की राशि कॉलेज प्रबंधन लोनिवि को जारी कर देगा। इसके बाद विभाग जल्द ही टेंडर लगा कर यहां पर निर्माण कार्य शुरू कर देगा।

किस ब्लाक में क्या मिलेगी सुविधा

कॉलेज परिसर में बनने वाले इन दोनों ब्लाक में एक ब्लाक का निर्माण बैडमिंटन कोर्ट के साथ किया जाएगा। एक ब्लाक पुराने आवासीय कॉलोनी की जगह पर तथा दूसरा ब्लाक पड्डल से सटा होगा। इसी ब्लाक में मेन प्रवेश द्वार होगा। यहीं से हर मंजिल से दूसरे ब्लाक के लिए पुल बनेंगे। पड्डल मैदान से सटा मेन भवन छह मंजिला होगा। जिसमें धरातल में रिशेप्सन, प्रशासनिक हॉल, रूम, ग्राउंड फ्लोर पर एस्टेबलिसमेंट रूम और शौचालय, प्रथम तल पर सेमिनार हॉल, अकाउंट विभाग कार्यालय, द्वितीय तल पर दो क्लास रूम, स्कूल ऑफ लॉ विभाग, स्टाफ रूम, लाइब्रेरी, तृतीय तल पर तीन क्लास रूम, चौथे तल पर तीन क्लास रूम, शौचालय, पांचवें तल पर मल्टी पर्पस हॉल का निर्माण किया जाएगा। इसके नीचे की तरफ सटे पांच मंजिला ब्लाक में धरातल पर तीन लैब, प्रथम तल पर तीन लैब, द्वितीय तल पर तीन क्लास रूम, तृतीय तल पर तीन क्लास रूम और चतुर्थ तल पर दो क्लास रूम और मूफकोर्ट रूम का निर्माण किया जाएगा।

सोमवार तक सौंप दिया जाएगा पैसा : प्राचार्य

कॉलेज प्राचार्य डॉ. आईडी शर्मा ने कहा कि लोनिवि को पांच करोड़ रुपये सौंपे जा रहे हैं। इसके लिए लोनिवि से फार्म मांगे गए हैं। सोमवार तक पैसा विभाग को सौंप दिया जाएगा। भवन का नक्शा विभाग ने तैयार कर लिया है।

पैसा मिलते ही टेंडर प्रक्रिया होगी शुरू : लोनिवि

लोनिवि विभाग के अधिशाषी अभियंता प्रदीप कुमार ने कहा कि कॉलेज प्रबंधन ने पैसा ट्रांसफर करने के लिए फार्म मांगे हैं। पैसा मिलते ही भवन निर्माण के लिए टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/hgABgAAA

📲 Get Mandi News on Whatsapp 💬