[moradabad] - हम नहीं मानते नियम कानून, बंद करके दिखाओ

  |   Moradabadnews

मुरादाबाद।
शहर में आटो और ई-रिक्शा चालकों की मनमानी आम लोगों पर भारी पड़ रही है। आटो एवं ई-रिक्शा चालक आरटीओ नहीं बल्कि अपने हिसाब से मनमर्जी के रूटों पर दौड़ते हैं। पुलिस की भी अनदेखी से आधे से अधिक आटो एवं ई- रिक्शा का अवैध संचालन हो रहा है। इन पर किसी की लगाम नहीं है। जगह जगह से सवारियां उतारने एवं बैठाने से शहर को जाम से जूझना पड़ रहा है।
आरटीओ के आंकड़ों के मुताबिक मुरादाबाद शहर में मात्र 1650 आटो और 1300 ई रिक्शा पंजीकृत हैं। सड़कों पर इनकी संख्या दोगुनी से अधिक है। आटो के व्यवस्थित संचालन के लिए शहर में अलग-अलग दस रूट के साथ स्टाप भी तय हैं। हर रूट के लिए दूरी की सीमा तय है। पहचान के लिए कलर कोड भी लागू है। लेकिन, सड़कों पर दौड़ते अधिकांश आटो पर कलर कोड ही नहीं है। जिससे उसके रूट की पहचान करना संभव नहीं है।
ई-रिक्शा के लिए शहर में अभी तक कोई रूट ही निर्धारित नहीं है। हर चौराहा से लेकर शहर में ई-रिक्शा की बाढ़ आई है। गली मोहल्लों से लेकर मुख्य सड़क पर ई-रिक्शा ही नजर आते हैं। इनकी डग्गामारी से पूरा शहर जाम में जकड़ा हुआ है। आम आदमी को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/J4o5_QAA

📲 Get Moradabad News on Whatsapp 💬