[panipat] - 33 साल पहले बने थे सचिव, पहली बार लड़ा प्रधान का चुनाव और चार बार प्रधान रहे अहलावत को दी मात, बने 90 वें प्रधान

  |   Panipatnews

अमर उजाला ब्यूरो
पानीपत।
जिला बार एसोसिएशन का चुनाव शुक्रवार को न्यायालय सभागार में कराया गया। शाम 7 बजे चुनाव परिणाम घोषित किए गए। रोचक मुकाबले में एडवोकेट शेर सिंह खर्ब 540 मत लेकर प्रधान बने, जबकि राजेश शर्मा 387 मत लेकर दूसरे नंबर पर रहे वहीं 4 बार प्रधान रह चुके उमेद सिंह अहलावत को मात्र 230 मतों पर ही संतोष करना पड़ा। राजेश नागर 468 मत लेकर उप प्रधान बने जबकि करनैल सिंह को 437 व राजपाल कश्यप को 239 मत प्राप्त हुए। सचिव पद के लिए हरमिन्द्र सांगवान ने चुनाव जीता। उन्हें 480 वोट मिले जबकि अनिल सिंगला को 308, सचिन भाटिया को 313 व बलराज मेहरा को 58 वोट ही मिल पाए। इसके अलावा कोषाध्यक्ष पद पर बाजी प्रवीण ने मारी। उन्होंने 678 वोट लिए उनके सामने चुनाव लड़ रहे कपिल चढ्ढा को 469 वोट मिले। संयुक्त सचिव के लिए मीनू कमल 509 वोट लेकर विजयी रहे। उनके सामने चुनाव लड़ रहे विनोद को 420, आशुतोष को 225 वोट मिले।
शेरसिंह खर्ब के बार के प्रधान बनते ही उनके समर्थकों ने ढोल की थाप पर नाचते हुए खुशी मनाई व लड्डू बांटकर एक दूसरे का मुंह मीठा कराया। चुनाव अधिकारी के रूप में राजसिंह रावल, सह चुनाव अधिकारी सुरेन्द्र जागलान, राजेश अहलावत रहे पूर्व प्रधान निर्मल गुर्जर की मौजूदगी में चुनाव संपन्न हुआ।
सुबह 9:30 बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई। वोटर लिस्ट के मुताबिक 1300 वकीलों को मतदान करना था। पहले दो घंटे में मात्र 260 मत पड़े। दूसरे सत्र में मतदान ने रफ्तार पकड़ी। दोपहर 1:30 बजे तक 660 वकीलों ने मतदान किया। 2:30 बजे आधा घंटा का लंच रहा। तीन बजे पुन: मतदान प्रक्रिया शुरू कर दी गई। लंच के बाद मतदान करने के लिए वकील लंबी कतार में खडे़ दिखे। शाम 4:30 बजे परिसर का गेट बंद कर दिया गया। कतार में खड़े वकीलों ने करीब सवा पांच बजे तक मतदान किया। कुल 1163 वोट पड़े। पहला नतीजा शाम 5:30 बजे आया।

अध्यक्ष पद का परिणाम :
कुल 1136 मत पडे़। शेर सिंह को 540, राजेश शर्मा को 387 मत व उमेद सिंह अहलावत को 230 वोट मिले।
उपाध्यक्ष पद का परिणाम :
राजेश नागर 468 मत लेकर उप प्रधान बने। करनैल सिंह को 437 व राजपाल कश्यप को 239 मत प्राप्त हुए।
सचिव पद का परिणाम :
सचिव पद के लिए हरमिन्द्र सांगवान को 480 वोट मिले। जबकि अनिल सिंगला को 308, सचिन भाटिया को 313 व बलराज मेहरा को 58 वोट मिले।
संयुक्त सचिव पद का रिजल्ट :
संयुक्त सचिव के लिए मीनू कमल 509 वोट लेकर विजयी रहे। विनोद को 420, आशुतोष को 225 वोट मिले।
कोषाध्यक्ष पद का परिणाम :
प्रवीण कुमार को 678 वोट मिले। जबकि कपिल चढ्ढा को 469 वोट मिले।

चुनाव कमेटी में यह रहे शामिल :
सहायक रिटर्निग अधिकारी जसवीर मान, विमल सेठी व अनिल अहलावत। जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पवन खुराना व संयुक्त सचिव सुल्तान सिंह।
एक-एक वोट पर रही नजर
जिला बार एसोसिएशन के चुनाव अध्यक्ष पद समेत अन्य पदों के प्रत्याशियों की एक-एक वोट पर नजर रही। कुछ वकील मतदान करने में देरी करते दिखे तो उन्हें चैंबर से बुलवाया गया। एक भी वोट पड़ती तो प्रत्याशी वोटर लिस्ट पर निशान लगा देते।

कंधे पर उठाकर मनाई खुशी
पहला नतीजा आने के बाद सभी प्रत्याशियों की सांसें अटकी रहीं। समर्थकों के माथे पर भी पसीना देखा गया । जैसे-जैसे रिजल्ट घोषित हुए समर्थक विजेता को कंधे पर उठाकर खुशियां मनाने लगे। अध्यक्ष पद का रिजल्ट देरी से घोषित किया गया। इस दौरान कई बार निर्मल सिंह की जीत बताकर समर्थक जिंदाबाद करते दिखे। जीत की खुशी में लड्डू भी बांटे गए।

पहले करनैल सिंह को किया उप प्रधान घोषित, 10 मिनट बाद हारे
तीसरे नतीजे में उप प्रधान के दावेेदार करनैल सिंह को विजेता घोषित कर दिया गया। उनके समर्थकों ने उनके गले लगाकर लड्डू बांटने शुरू किए, तब तक अंदर से आवाज आई दोबारा वोटों की गिनती होगी। दोबारा गिनती हुई राजेश नागर ने उन्हें 41 वोटों से हरा दिया। राजेश नागर को 468 व करनैल सिंह को 437 मत मिले।

जूनियर वकीलों के लिए करूंगा काम, सीनियर की करूंगा इज्जत : शेर सिंह
जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर बड़ी जीत हासिल करने पर एडवोकेट शेर सिंह खर्ब ने कहा कि गरीबों को न्याय मिले, इसके लिए प्रयास किए जाएंगे। जूनियर वकीलों के लिए काम करेंगे। वकीलों के लिए कल्याणकारी योजनाएं तैयार की जाएगी। वह सदैव अपने से सीनियर वकीलों की मान रखेंगे और उनका मान बढ़ाएंगे।

पहली बार सहसचिव बनी महिला वकील
मीनू कोमल से सहसचिव का चुनाव लड़ा। उनका शुरू से ही पलड़ा भारी था। वह शुरू से ही अपनी जीत को लेकर आश्वस्त नजर आ रही थी। उन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वी विनोद कुमार को 89 वोट से हरा दिया उनको 520 वोट मिले।
नव निर्वाचित अध्यक्ष का परिचय :
नाम-शेर सिंह खर्ब
जन्म तिथि-15 जनवरी, वर्ष 1957
निवासी-गांव नारा
शिक्षा-वर्ष 1972 आठवी पास, 1974 दसवीं, 1978 ग्रेजवेशन, 1981 एलएलबी जयपुर युर्निवर्सिटी से
वकालत- 1982 से शुरू की
पिता का नाम-श्री लाल चंद (किसान)

शेर सिंह खर्ब बने बार एसोसिएशन के प्रधान
33 साल पहले बने थे सचिव, पहली बार लड़ा प्रधान का चुनाव और चार बार प्रधान रहे अहलावत को दी मात
-उमेद सिंह अहलावत को मात्र 230 वोटों से करना पड़ा संतोष, वो तीन दावेदारों में तीसरे नंबर पर रहे
-पहली बार महिला वकील बने सह सचिव
फोटो संख्या 13 से 22

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/hy9c6gAA

📲 Get Panipat News on Whatsapp 💬