[rohtak] - बौंदकलां डिस्ट्रीब्यूटरी टूटी, खेतों में खड़ी फसलों में पानी भरा

  |   Rohtaknews

बौंदकलां डिस्ट्रीब्यूटरी टूटी, किसानों की फसलें जलमग्न
बौंदकलां।
बौंदकलां डिस्ट्रीब्यूटरी वीरवार देर रात अचानक टूट गई। इससे नहर का पानी ओवरफ्लो होकर किसानों के खेतों तक जा पहुंचा। इससे करीब आधा दर्जन किसानों की गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचा है। किसानों ने जिला प्रशासन से मुआवजा देने की मांग की है। वीरवार को नहर में करीब 140 क्यूसेक पानी चल रहा था। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार सुबह मौके पर पहुंचकर नहर को पाटने का कार्य शुरू कराया।
वीरवार रात्रि करीब 11 बजे के बौंदकलां डिस्ट्रीब्यूटरी ओवरफ्लो होकर आरडी नंबर 5500 पर टूट गई। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने नहर टूटने की सूचना मिलते ही आनन फानन में नहरी पानी को बंद करवा दिया। शुक्रवार सुबह करीब छह बजे सिंचाई विभाग ने जेसीबी और डंपरों की सहायता से मिट्टी डलवाकर नहर को पाटने का काम शुरू करवाया। सिंचाई विभाग के एसडीओ विकास सहरावत ने बताया कि जल्द ही नहर को पाटने का काम पूरा करवा दिया जाएगा। नहर के टूटने के कारण नहरी पानी पककर तैयार खड़ी गेहूं की फसल में पहुंच गया। सिंचाई विभाग की डीच ड्रेन में नहर का पानी जमा होने से पानी का फैलाव कम हो सका। सिंचाई विभाग का कहना है कि फसलों में कम मात्रा में ही पानी जमा हुआ है। वहीं पर किसान दिनेश शर्मा, मंगत रोहिला, भीम चौहान, दिनेश चौधरी, बंशी शर्मा, रामबिलाश और मास्टर निरंजन ने बताया कि गेहूं की फसल पककर तैयार हो चुकी थी। नहरी पानी जमा होने के कारण फसल खराब हो गई है। इसलिए सरकार को किसानों को उचित मुआवजा देना चाहिए।
नहर पुरानी और होल होने के कारण टूटी : एसडीओ
सिंचाई विभाग के एसडीओ विकास सहरावत से जब बौन्दकलां डिस्ट्रीब्यूटरी टूटने का कारण पूछा गया तो वो बोले कि नहर पुरानी और जगह जगह होल होने के कारण पानी रिसाव के कारण नहर टूटी है। नहर टूटते ही विभाग ने पीछे से पानी को बंद करवा दिया था। नहर में केवल 140 क्यूसिक पानी ही चल रहा था। विभाग ने नहर के टूटे हिस्से को पटवाना शुरू कर दिया है। विभाग शुक्रवार शाम तक ही नहर को ठीक करवा देगा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1j6bYQAA

📲 Get Rohtak News on Whatsapp 💬