[saharanpur] - अंबेडकर जयंती की शोभायात्राओं की अनुमति को लेकर पुलिस एवं प्रशासन अलर्ट

  |   Saharanpurnews

आंबेडकर जयंती पर शोभायात्रा को लेकर प्रशासन अलर्ट
सहारनपुर। बाबा साहब डाक्टर भीमराव आंबेडकर जयंती शोभायात्रा निकाले जाने को लेकर इस बार पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। अभी तक एक भी शोभायात्रा के लिए प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है। जबकि अनुमति के लिए दस से अधिक आवेदन पत्र नगर मजिस्ट्रेट कार्यालय में पहुंच चुके हैं।
सहारनपुर में हिंसा की शुरुआत 20 अप्रैल को ग्राम सड़क दूधली में बाबा साहब डाक्टर भीमराव आंबेडकर की जयंती के उपलक्ष्य में निकाली जा रही शोभायात्रा के दौरान हुई। गांव में मुस्लिम समाज के लोगों ने एक इलाके से शोभायात्रा को नहीं निकलने दिया। जिस पर दोनों ओर से जमकर पथराव हुआ, आगजनी की गई और गोलियां भी चलीं। जिसमें भाजपा सांसद राघव लखनपाल शर्मा, पूर्व विधायक राजीव गुंबर समेत भाजपा के सभी विधायक मौजूद थे। सड़क दूधली के बाद भाजपा नेताओं के साथ समर्थकों ने एसएसपी आवास पर पहुंचकर हंगामा किया। वहां तोड़फोड़ भी की गई। जिसके चलते सांसद से लेकर नगर अध्यक्ष तक सभी भाजपा नेताओं पर एफआईआर दर्ज की गई थी। इस घटना के बाद प्रशासन फूंक-फूंक कर कदम रख रहा है। इस बार अंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में निकाली जाने वाली शोभायात्राओं पर अनुमति को लेकर अधिकारी बैठक कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि सिटी मजिस्ट्रेट कार्यालय में 10 से अधिक आवेदन आ चुके हैं। लेकिन अभी तक एक पर भी अनुमति नहीं दी गई है। संत रविदास छात्रावास में आंबेडकर जयंती कार्यक्रम मनाए जाने की अनुमति के लिए सबसे पहले प्रार्थना पत्र पहुंचा। बताया जा रहा है कि सड़क दूधली में भी आंबेडकर जयंती कार्यक्रम के आयोजन की तैयारी की जा रही है। लेकिन अभी तक अनुमति नहीं दी गई है।


--। बिना अनुमति के निकाली गई थी शोभायात्रा
पिछले वर्ष सड़क दूधली में शोभायात्रा निकालने की अनुमति नहीं दी गई थी। बाद में जब शोभायात्रा निकाली जाने लगी और सांसद, विधायक तथा भाजपा के अन्य नेता पहुंच गए तो पुलिस अधिकारियों को भी सुरक्षा में पहुंचना पड़ा। लेकिन निर्धारित रूट की बजाय मुस्लिम मोहल्लों से होकर आंबेडकर जयंती निकालने की जिद पर बवाल खड़ा हो गया था।


--। नहीं दी गई किसी को अनुमति
बाबा साहब डाक्टर भीम राव आंबेडकर कार्यक्रम एवं शोभायात्रा की अनुमति के लिए अनेक आवेदन आए हैं। लेकिन अभी तक किसी भी आवेदन पर अनुमति नहीं दी गई है। इस बारे में पुलिस और उच्च प्रशासनिक अधिकारियों से वार्ता के बाद ही अनुमति दी जाएगी।
--। राजेश कुमार, नगर मजिस्ट्रेट, सहारनपुर

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/9XLRggAA

📲 Get Saharanpur News on Whatsapp 💬