[sitapur] - बरसात से पहले शुरू होगा बाढ़ की रोकथाम का काम: डीएम

  |   Sitapurnews

ग्रामीणों की शिकायत पर मल्लापुर प्रधान के वित्तीय अधिकारी सीज करने के दिए निर्देश
तम्बौर/रेउसा (सीतापुर)। डीएम ने कहा कि शारदा नदी के तट पर बाढ़ की रोकथाम के लिए बरसात से पहले काम शुरू करा दिया जाएगा। बाढ़ प्रभावित इलाके में भूमि संबंधी विवाद अधिक देख डीएम ने एसडीएम व सीओ को कैंप कर निस्तारण कराने के निर्देश दिए।

ग्रामीणों ने बताया कि मल्लापुर आने-जाने के लिए संपर्क मार्ग नही है। प्रधान से कई बार कहा गया लेकिन वह सुनते नहीं। इस पर डीएम ने मल्लापुर प्रधान के वित्तीय अधिकार सीज करने के निर्देश सीडीओ को दिए।

जिलाधिकारी शीतल वर्मा ने शुक्रवार को बाढ़ प्रभावित इलाके में काशीपुर-मल्लापुर, शेखूपुर, खमरिया व गोलोक कोडर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री आवास तथा शौचालय निर्माण का भौतिक सत्यापन करते हुए बच्चों को स्कूल भेजने व बीमारियों से बचाव के लिए टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित किया।

सुबह सबसे पहले डीएम ब्लॉक तंबौर के बाढ़ प्रभावित काशीपुर गांव पहुंचीं। यहां उन्होंने शारदा नदी के तट पर पूर्व में बनवाए गए स्टडों का निरीक्षण किया। डीएम ने ग्रामीणों को बताया कि बाढ़ की रोकथाम के लिए सरकार ने स्टड व बंधा निर्माण की परियोजना मंजूर की है।

बरसात से पहले काम शुरू करा दिया जाएगा। प्रयास रहेगा कि बरसात से पहले ही काम पूरा भी हो जाए। ताकि बाढ़ से होने वाले नुकसान को रोका जा सके। इसके बाद डीएम ने शेखूपुर में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनीं। यहां ग्रामीणों ने बताया कि मल्लापुर गांव आने-जाने का कोई संपर्क मार्ग नही है।

खंड़जा लगवाने के लिए प्रधान से कई बार कहा गया, लेकिन खंड़जा नहीं लगा। इस पर डीएम ने नाराजगी जताते हुए प्रधान शिवप्यारी के वित्तीय अधिकार सीज करने के निर्देश सीडीओ को दिए। भूमि संबंधी विवादों की शिकायतें ज्यादा देख डीएम ने एसडीएम बिसवां व सीओ को कैंप लगाकर जमीनी विवादों का निस्तारण कराने के निर्देश दिए।

इसके बाद डीएम ब्लॉक रेउसा के गोलोक कोडर पहुंची। यहां चौपाल लगाकर ग्रामीणों से कहा कि बाढ़ से पहले पशुओं का टीकाकरण अवश्य करा लें। कहा कि गांव की समस्याओं व भूमाफिया की सूचना अफसरों को दें। उनका नाम गोपनीय रखा जाएगा।

उन्होंने स्कूल चलो अभियान व टीकाकरण की जानकारी ग्रामीणों को दी। क्षेत्रीय विधायक ज्ञान तिवारी ने डीएम के समक्ष बाढ़ प्रभावित क्षेत्र की समस्याएं रखीं। इस मौके पर सीडीओ डीके तिवारी, एसडीएम बिसवां अतुल प्रकाश आदि मौजूद थे।

ओवरलोड ट्रक देख डीएम का चढ़ा पारा, ट्रक सीज करने के दिए निर्देश
बिसवां। बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा करने जा रही डीएम शीतल वर्मा की नजर अचानक गन्ना लदे ओवरलोड ट्रक पर पड़ी तो उनका पारा चढ़ गया। डीएम ने ओवरलोड ट्रक को सीजन करने के निर्देश दिए। इस पर पुलिस ने ट्रक को सीज कर दिया। दरअसल, डीएम का काफिला नगर के रेलवे स्टेशन के पास पहुंचा था।

इसी बीच एक गन्ने का ओवर लोड ट्रक रेलवे के गेट में लड़ गया जिससे गन्ना सड़क पर ही गिर गया। सड़क पर गन्ना गिरने से डीएम का काफिले को रुकना पड़ गया। यह देख नाराज डीएम ने गन्ने के ओवरलोड ट्रक को सीज करने का फरमान सुना दिया। कोतवाली प्रभारी हरमीत सिंह ने बताया कि ट्रक व चालक पुलिस की कस्टडी में है। एआरटीओ को सूचना दी गई है। सीज करने की कार्रवाई एआरटीओ को करनी है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/w414TgAA

📲 Get Sitapur News on Whatsapp 💬