[una] - रिश्वत मामले में फंसे अफसरों पर एफआईआर दर्ज

  |   Unanews

रिश्वत मामले में फंसे अफसरों पर एफआईआर
पूर्व एएसपी और एसआईयू इंचार्ज पर लगे हैं संगीन आरोप
मामले के उजागर होने से पुलिस महकमे खलबली
अमर उजाला ब्यूरो
ऊना।
नशा तस्करों से हर महीने हजारों रुपये की रिश्वत लेने के संगीन आरोपों में फंसे जिला में पूर्व एएसपी मदन लाल कौशल और पूर्व एसआईयू इंचार्ज हेड कांस्टेबल बृजभूषण के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। मामले की जांच का जिम्मा स्टेट सीआईडी के पास चला गया है। पुलिस अफसरों पर एफआईआर दर्ज होने से पुलिस महके में खलबली मच गई है। अभी हाल ही में चिट्टे के साथ गिरफ्तार तीन युवकों से पूछताछ में पुलिस के दो बड़े अधिकारियों पर नशा कारोबार को संरक्षण देने के लिए हर महीने हजारों रुपये रिश्वत देने का आरोप लगाया था। इस पर एसपी दिवाकर शर्मा ने रिश्वत लेने के आरोप में पूर्व एसआईयू इंचार्ज को सस्पेंड कर दिया। पूर्व में जिला में तैनात रहे एएसपी मदन लाल कौशल के मामले को डीजीपी के सुपुर्द कर दिया। मामले में आरोपी बनाए गए पूर्व एडिशनल एसपी मदन लाल कौशल ने करीब डेढ़ साल ऊना में तैनात रहे। सितंबर 2017 तक ऊना में सेवाएं दीं। पूर्व एएसपी 25 हजार रुपये महीना जबकि पूर्व एसआइयू इंचार्ज को नशे के कारोबार के लिए चार हजार रुपये महीना दिया जाता था। इसकी जांच का जिम्मा अब स्टेट सीआईडी करेगी।
पुलिस अधीक्षक दिवाकर शर्मा ने बताया कि रिश्वत लेने के आरोप में पूर्व एएसपी मदन लाल कौशल और पूर्व एसआईयू इंचार्ज हेड कांस्टेबल बृजभूषण के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। मामला स्टेट सीआईडी के सुपुर्द किया है। मामले की जांच की जा रही है।

पूर्व एसआईयू इंचार्ज को अस्पताल से छुट्टी
ड्रग तस्करी के आरोपियों से घूस लेने के आरोप में नामजद पूर्व एसआईयू इंजार्च बृजभूषण को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। नशा बेचने के आरोप में गिरफ्तार युवकों से पूछताछ के दौरान बृजभूषण का नाम सामने आने के बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई थी। इसके चलते उन्हें जोनल अस्पताल में भरती कराया गया था। चिकित्सकों ने बृजभूषण को उपचार के बाद छुट्टी दे दी है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Gman3wAA

📲 Get Una News on Whatsapp 💬