[sirsa] - ऑपरेशन प्रबल प्रहार: दिल्ली से सिरसा में तस्करी के लिए लाई जा रही 35 लाख की हेरोइन बरामद, तस्कर हुआ फरार

  |   Sirsanews

ऑपरेशन प्रबल प्रहार: दिल्ली से सिरसा में तस्करी के लिए लाई जा रही 35 लाख की हेरोइन बरामद, तस्कर हुआ फरारअमर उजाला ब्यूरो सिरसा। नशीले पदार्थों की तस्करी का गढ़ बनते जा रहे सिरसा को नशा मुक्त बनाने के लिए पुलिस की ओर से चलाए जा रहे ऑपरेशन प्रबल प्रहार सार्थक होता दिखाई दे रहा है। बुधवार रात पुलिस को जिसमें अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी मिली। पुलिस ने कालांवाली क्षेत्र के गांव गदराना में एक कार से 35 लाख रुपये कीमत की 690 ग्राम हेरोइन (चिट्टा) बरामद की। हालांकि पुलिस टीम को देखते ही ही आरोपी तस्कर मौके से फरार हो गया। इस कामयाबी साथ पुलिस पिछले पांच महीने में करीब डेढ़ किलोग्राम हेरोइन तस्करों से बरामद कर चुकी है। विश्व बाजार में इसकी कीमत 75 लाख रुपये है। युवा आईपीएस एवं सिरसा के एएसपी नरेंद्र बिजारनियां को बुधवार रात मुखबिरी मिली थी कि गांव गदराना में एक शख्स काफी मात्रा में हेरोइन सप्लाई करने की फिराक में है। एएसपी नरेंद्र बिजारनिया ने पुलिस अधीक्षक हामिद अख्तर को इसके बारे में जानकारी देकर डबवाली सीआईए को इलाके की घेराबंदी करने का निर्देश दिया। सीआईए की टीम ने सहायक उप निरीक्षक गोरी शंकर के नेतृत्व में गांव गदराना से लकडावाली रोड पर नाकाबंदी कर दी। इसी दौरान गांव गदराना में एक घर के सामने गाडी खडी दिखाई दी, जिसकी लाईटे जल रही थी पुलिस पार्टी को नजदीक आता देखकर गाडी में सवार व्यक्ति अंधेरे का फायदा उठाकर भागने मे कामयाब हो गया। पुलिस ने गाड़ी की तलाशी ली तो चालक सीट के नीचे रखे लिफाफे में एक डिब्बा मिला। पुलिस ने डिब्बा खोला तो उसके अंदर 690 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। गाड़ी छोड़कर फरार हुए चालक की पहचान गोबिंद उर्फ चेत सिंह निवासी गदराना के रूप में हुई है। शुरूआती जांच में पता चला है कि हेरोइन दिल्ली में सक्रिय तस्कर खरीदकर लाई गई थी और इसे कालांवाली क्षेत्र में सप्लाई किया जाना था। फरार हुए तस्कर गोबिंद को गिरफ्त में लेने के लिए पुलिस उसके ठिकानों में दबिश दे रही है।हेरोइन का नशा करने वालों बढ़ी तादाद---------------------------------जिले में इन दिनों एक खतरनाक नशा युवाओं को अपनी गिरफ्त में ले रहा है। इसका नाम है हेरोइन, हजारों युवा इस नशे के गुलाम हो चुके हैं। सिरसा में दिल्ली, पंजाब व राजस्थान से हेरोइन की तस्करी में हो रही है। हेरोइन के नशे की चपेट में पंजाबी बाहुल्य रानियां क्षेत्र सबसे ज्यादा आ रहा है। डबवाली और सिरसा में भी हेरोइन की काफी बिक्री हो रही है। एक ग्राम हेरोइन की कीमत चार से पांच हजार रुपये है। हेरोइन की नशे जकड़े युवा ही अब स्वयं इसकी तस्करी भी जुड़ने लगे हैं। पुलिस तस्करों को पकड़ने का प्रयास तो करती है, लेकिन ज्यादा कामयाब नहीं रहती। एक जनवरी से लेकर अब तक पुलिस डेढ किलोग्राम से ज्यादा हेरोइन तस्करों जब्त कर चुकी है। गिरफ्तार हुए अधिकांश तस्कर 25 से 30 साल के युवा निकले।नशे की पूर्ति के चक्कर में बढ़ रहे हैं अपराध--------------------------------------पिछले कुछ समय से हो रही स्नेचिंग, चोरी व लूपपाट की वारदातों में एक बात साफ हो चली है कि नशे की गिरफ्त में फंस चुके युवाओं ने नशे की पूर्ति के लिए इन वारदातों को अंजाम दिया। इन मामलों में गिरफ्त में आए आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया नशा खरीदने के लिए उन्हें रुपयों की जरूरत थी और इसलिए उन्हें लूटपाट , चोरी व स्नेचिंग की। जिला के पुलिस अधिकारियों का भी ये मानना है कि जितनी भी आपराधिक घटनाएं हो रही है अधिकांश में का मोटीव नशे की पूर्ति के रूप में सामने आ रहा है।पंजाब व राजस्थान से सटा है सिरसा-----------------------------------सिरसा में नशीले पदार्थों की तस्करी का मुख्य कारण यह भी है कि ये जिला पंजाब और राजस्थान सीमा से सटा हुआ है। राजस्थान से अफीम व चूरा पोस्त सिरसा में लाई जाती है। यहां से इसे हरियाणा और पंजाब में सप्लाई कर दिया जाता है। इसके अलावा हेरोइन, नशीली दवा व गांजे की तस्करी भी खूब हो रही है। सबसे ज्यादा हालत डबवाली , कालांवाली व रानियां विधान सभा क्षेत्र की खराब है। डबवाली व कालांवाली क्षेत्र तो नशीली दवाइयों और इंजेक्शन के कारोबार के अड्डे बन गए हैं। समय रहते नकेल नहीं कसी गई तो नशे के गिरफ्त में आने वाले युवाओं की संख्या कई गुना बढ़ जाएगी।जनता का पुलिस का सहयोग करे--------------------------------जिले को नशामुक्त बनाने के लिए ऑपरेशन ‘प्रबल प्रहार’ शुरू किया गया है। बुधवार रात को इसमें पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। सिरसा को नशा मुक्ति करने के लिए तस्करों के सारे नेटवर्क को जल्द निस्तेनाबूत किया जाएगा। आम जनता का सहयोग पुलिस को मिलेगा तो तस्करी के कारोबार पर नकेल कसने में आसानी होगी। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की दबिश जारी है। जल्द ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जिले की जनता पुलिस को अपना सहयोग दे ताकि ताकि नौजवान पीढ़ी को नशे के दलदल में फंसने से बचाया जा सके।हामिद अख्तर, पुलिस अधीक्षक सिरसा।फोटो: 19बरामद की गई हेरोइन व कार के साथ मौजूद पुलिस टीम।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/EqqvEQAA

📲 Get Sirsa News on Whatsapp 💬