[sirsa] - डेरा प्रबंधन कमेटी के वाईस चेयरमैन डॉ.पीआर नैन सहित चार लोगों के खिलाफ एक-एक लाख का ईनाम घोषित

  |   Sirsanews

डेरा प्रबंधन कमेटी के वाइस चेयरमैन डॉ. पीआर नैन सहित चार लोगों के खिलाफ एक-एक लाख का ईनाम घोषितसिरसा। डेरा विवाद को लेकर सिरसा में हुई हिंसा मामले में फरार चल रहे डेरा सच्चा सौदा प्रबंधन कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. पीआर नैन सहित चार लोगों सिरसा पुलिस ने एक-एक लाख रुपये का ईनाम घोषित कर दिया है। वीरवार को सिरसा पुलिस ने लापता आरोपी डॉ. पीआर नैन, डेरा प्रबंधन समिति की 15 मेंबरी कमेटी के पदाधिकारी नवीन कुमार उर्फ गोभी, अभिजीत उर्फ बब्लू व बेअंत कौर के पोस्टर सिरसा के बाजारों, रेलवे स्टेशन, बस अड्डा व डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय में चस्पा किए। एक -एक लाख रुपये इनामी उक्त चारों आरोपी डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के बेहद करीबी हैं। इनके हाथों में ही डेरा सच्चा सौदा सारा संचालन था। ये लोग डेरा की तमाम गतिविधियों की रिपोर्ट सीधा डेरा प्रमुख को देते थे। आरोपी बेेयंत कौर के हाथों में अकाउंट की जिम्मेदारी थी। डेरा सच्चा सौदा का सालाना अरबों रुपये का हिसाब किताब बेयंत कौर करती थी। एसआईटी ने जनवरी 2018 को डेरा सच्चा सौदा प्रबंधन कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष डॉ. पीआर नैन सहित चारों आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। इसके बाद से ये लोग फरार चल रहे हैं। एसआईटी की टीमों ने काफी बार इन्हें गिरफ्त में लेने के लिए डेरा सच्चा सौदा में छापेमारी की, लेकिन आरोपियों का कुछ पता नहीं चला।इन शहरों के वासी है आरोपी------------------------डॉ. पीआर नैन पंजाब के जिला फाजिल्का के बोदीवाल का रहने वाला है। नवीन कुमार उर्फ गोभी गंगानकर के सरदूलशहर का वासी है, जबकि अभिजीत उर्फ बब्लू महाराष्ट्र के जिला सतारा का निवासी है। आरोपी बेयंत कौर राजस्थान के गुरूसर मोडिया शहर में रहती है। ये चारों लोग पिछले एक दशक से डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय में रह रहे थे।हिंसा की साजिश रचने में थी अहम भूमिका-----------------------------------साध्वी यौन शोषण मामले में पंचकूला सीबीआई कोर्ट ने 25 अगस्त 2017 को फैसला सुनाना था। डेरा सच्चा सौदा प्रबंधन ने अदालत के संभावित फैसले को भांपते हुए डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम का 15 अगस्त को जन्मदिन सप्ताह मनाने का फैसला किया। जन्मदिन सप्ताह मनाने के लिए देशभर से लाखों अनुयायी डेरा सच्चा सौदा पहुंचे। डेरा प्रबंधन समिति व तमाम कमेटियों के पदाधिकारियों की डेरा में बैठक कर संभावित फैसले के बाद की योजना तैयार की। 17 अगस्त 2017 को डेरा मुखी की अगुवाई में डेरा प्रबंधन समिति की अहम पदाधिकारियों व करीबियों की बैठक हुई। इस बैठक में हनीप्रीत इंसां, आदित्य इंसां, पवन इंसां, डॉ पीआर नैन, गोलो मौसी, नवीन कुमार उर्फ गोभी, अभिजीत व बेयंत कौर भी शामिल थी। साजिश रचे जाने के बाद17 अगस्त से 23 अगस्त 2017 तक डेरा में आए अनुयायियों से कहा गया कि अगर गुरू जी के खिलाफ कोर्ट का फैसला आता है तो चुपचाप नहीं बैठना है, चाहे अपनी जान तक क्यों न देनी पडे़। 23 अगस्त को लाखों अनुयायी पंचकूला में जमा हो गए। 25 अगस्त को सीबीआई कोर्ट ने जैसे ही गुरमीत राम रहीम को साध्वी रेप केस में दोषी करार दिया, पंचकूला व सिरसा में हिंसा भड़क उठी। अनुयायियों ने बडे़ पैमाने पर आगजनी कर सुरक्षा बलों पर हमले किए। सिरसा में अनुयायियों ने बिजली घर व वीटा मिल्क प्लांट में पेट्रोल बम फेंककर आग के हवाले कर दिया। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्रवाई में सिरसा में छह उपद्रवियों की मौत हो गई जबकि पूरे हरियाणा में 42 उपद्रवी दंगा विरोधी कार्रवाई में मारे गए।सूचना देेने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा--------------------------------डेरा प्रबंधन कमेटी के वाइस चेयरपर्सन डॉ पीआर नैन , नवीन कुमार उर्फ गोभी, अभिजीत उर्फ बब्लू व बेयंत कौर के ऊपर एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया है। चारों आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए फरार हैं। इनके बारे में कोई भी व्यक्ति पुलिस को सूचना दे सकता है। सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा। कोई भी शख्स मोबाइल नंबर 96549-90375 व 88140-11607 पर आरोपियों के संबंध में गुप्त सूचना दे सकता है।सुरजीत सहारण, जिला पुलिस प्रवक्ता सिरसा।फोटो:18 सिरसा पुलिस की ओर से जारी किया गया इनामी आरोपियों का पोस्टर।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AB724AAA

📲 Get Sirsa News on Whatsapp 💬