[ballia] - हाई करेंट से हुए हादसे के मामले में मुआवजा देने का निर्देश

  |   Ballianews

बैरिया (बलिया)। विद्युत उपकेंद्र के श्रीनगर गांव में बीते 26 जून को एलटी तार पर एचटी तार गिर जाने के कारण हुए हादसे के मामले में विद्युत सुरक्षा निदेशालय ने बिजली विभाग को दोषी माना है। निदेशालय ने हादसे में मरने वाली गांव की महिला के परिजनों के अलावा छह अन्य घायलों तथा 11 लोग जिनके घर के इलेक्ट्रानिक सामान जले थे, उन्हें मुआवजा देने का आदेश दिया है। निदेशालय ने अवर अभियंता कमलेश कुमार व संबंधित ठेकेदार के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई करने की भी संस्तुति की है।

गौरतलब है कि करीब एक माह पहले 26 जून को श्रीनगर गांव में एलटी तार पर एचटी तार टूटकर गिर जाने से दर्जनों लोगों के घरों में हाईवोल्टेज करेंट दौड गया। इसकी चपेट में आने से गांव की हीरामुनि देवी पत्नी रामप्रवेश पासवान गंभीर रूप से घायल हो गईं और जिला अस्पताल में इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इनके अलावा चंद्रावती देवी, सुमित पासवान, कुमारी अंशु गुप्ता, अरविंद तिवारी, पिंकी सिंह, शिवकुमारी गंभीर रूप से घायल हो गए थे। हाईवोल्टेज करेंट की चपेट में आने से गांव के विवेक गिरि, विपिन विहारी राय, अजय सिंह, तेजनरायन सिंह, धर्मनाथ सिंह, राजमंगल तिवारी, विजय बहादुर सिंह, कन्हैया तिवारी, ओमप्रकाश सिंह, रामेश्वर सिंह, मनोज कुमार सिंह के घरों में रखे फ्रीज, कूलर, पंखा आदि विद्युत उपकरण जल गए थे। इसके बाद गांव के ही आदित्य सिंह ने विद्युत सुरक्षा निदेशालय लखनऊ के यहां शिकायती पत्र देकर मुआवजे की मांग की थी। निदेशालय के निदेशक शुभराज सक्सेना के निर्देश पर जिले के सहायक निदेशक विद्युत सुरक्षा की टीम ने मामले की जांच की। रिपोर्ट में जांच टीम ने माना कि कमजोर एवं जर्जर जंपर द्वारा उक्त विद्युतीय अधिष्ठापन, फीडर का ब्रेकर कार्यक्षम अवस्था में न होने व एचटी एवं एलटी ओवर हेड के लाइन के मध्य गार्डिन की व्यवस्था न होने के कारण दुर्घटना हुई है। इसके लिए जांच टीम ने विद्युत विभाग के जेई व ठेकेदार को भी दोषी माना। जांच रिपोर्ट के आधार पर विद्युत सुरक्षा निदेशालय वाराणसी के उप निदेशक अक्षय कुमार आर्य ने 26 जुलाई को क्षतिपूर्ति देने व दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश जारी किया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/PRJxpQAA

📲 Get Ballia News on Whatsapp 💬