[ballia] - 60 हजार आबादी वाले क्षेत्र अंधेरे में रहने को विवश

  |   Ballianews

बांसडीहरोड (बलिया)। टकरसरन फीडर अंतर्गत करीब तीन दर्जन गांव में शुक्रवार के दिन से ही विद्युत गायब है। जिसको लेकर करीब 60 हजार आबादी वाले क्षेत्र अंधेरे में रहने को विवश है। वहीं, मोबाइल हाथ का झुनझुना बना हुआ है। जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

मालूम हो कि टकरसन फीडर पर तीन साल से लगे पांच एमबीए का ट्रांसफार्मर शुक्रवार को जलने लगा। परिसर में ट्रांसफार्मर के धुआं उठने से सभी कर्मचारी भाग खड़े हुए। किसी तरह विभागीय अधिकारी व कर्मचारी की सूझबूझ से आग पर काबू पाया गया। ट्रांसफार्मर जलने से क्षेत्र के शंकरपुर, मझौली, टघरौली, आमघाट, डुमरी, सरयां, फूलवरिया, घोरौली, विशुनपुरा, माधोपुर, चकरी, बभनौली, बांसडीहरोड बाजार, कुंवर जसांव, उधव दवनी, छाता, आमदौर सहित करीब तीन दर्जन गांव अंधेरे में हो गया। क्षेत्र के आशीष प्रताप सिंह, पूर्व प्रधान अजय सिंह, शशि पांडेय, अजीत सिंह आदि लोगों ने बताया कि विद्युत नहीं आने से पूरी व्यवस्था चौपट हो गई है। गांव के लोग मोबाइल चार्ज करने के लिए दूसरे क्षेत्र में जा रहे हैं। कहा कि बरसात शुरू हो गई है। अधिकांश लोगों के घर में इंवर्टर होने के कारण लालटेन भी घर में नहीं है। जिससे दिन तो कट जा रहे हैं। लेकिन रात अंधेरे में ही गुजारने को विवश है। जबकि छात्र-छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। इस बाबत टकरसन फीडर के एसडीओ हरिओम गुप्त ने बताया कि पांच एमबीए का ट्रांसफार्मर तीन साल पुराना था। बरसात में सिड़न के कारण ट्रांसफार्मर जल गया। आए दिन ट्रांसफार्मर के लिए उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। कहा कि बनारस से करीब एक सप्ताह में ट्रांसफार्मर में आने की उम्मीद है। ट्रांसफार्मर आते ही विद्युत व्यवस्था सही कर दी जाएगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QnKGxQAA

📲 Get Ballia News on Whatsapp 💬