[chandigarh] - जजों के हैं छुपे हुए दुश्मन, आधारहीन शिकायतों पर नहीं होनी चाहिए कार्रवाई

  |   Chandigarhnews

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट के जस्टिस एबी चौधरी व जस्टिस कुलदीप सिंह की खंडपीठ ने हाईकोर्ट की फुल बेंच के आदेश को खारिज करते हुए एडिशनल सेशन जज को दोबारा सेवाओं में लेने के आदेश दिए हैं। कोर्ट ने कहा कि जो आधार प्री मेच्योर रिटायरमेंट के लिए बनाए गए थे वे काफी नहीं। ईमानदार जजों के छुपे द्रुश्मन होते हैं और बड़ी संख्या में उनके खिलाफ झूठी शिकायतें सौंपी जाती हैं। ऐसे में यह हाईकोर्ट का फर्ज है कि वह अपने अधीन काम करने वाले ईमानदार जजों की रक्षा करे।

मामला पंजाब में तैनात एडिशनल सेशन जज रविंदर सिंह को प्री मेच्योर रिटायरमेंट देने से जुड़ा है। रविंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर हाईकोर्ट की फुल कोर्ट के प्रशासनिक फैसले को चुनौती दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट को यह केस सुनने को कहा था। याची ने कोर्ट को बताया कि 2007-08 व 2008-09 की उसकी एसीआर को सी ग्रेड दिया गया जो सामान्य से नीचे था।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/7rZLzAAA

📲 Get Chandigarh News on Whatsapp 💬