[gorakhpur] - प्राइवेट क्लीनिक, पैथॉलोजी पर ताला, लौटे मरीज

  |   Gorakhpurnews

फोटो

प्राइवेट क्लीनिक-पैथॉलोजी सेंटरों पर ताला, मरीज हुए परेशान

या

प्राइवेट क्लीनिक-पैथॉलोजी सेंटर बंद रहे

एनएमसी बिल के विरोध में 12 घंटे की हड़ताल पर रहे डॉक्टर

ओपीडी से मरीज लौटे, सिर्फ इमरजेंसी में भर्ती मरीजों का उपचार हुआ

अमर उजाला ब्यूरो

गोरखपुर। नेशनल मेडिकल कमीशन (एनएमसी) बिल के विरोध में शनिवार को प्राइवेट डॉक्टर हड़ताल पर रहे। आईएमए के आह्वान के समर्थन में धिक्कार दिवस मनाते हुए डॉक्टरों ने सुबह छह से शाम छह बजे तक क्लीनिक, पैथॉलोजी सेंटर बंद रखा। इस दौरान कई मरीजों को लौटना पड़ा। हालांकि गंभीर हालत वाले और नर्सिंग होम में भर्ती मरीजों का डॉक्टरों ने उपचार किया।

सीतापुर आई हास्पिटल में शनिवार की सुबह बैठक हुई। इसमें डॉक्टरों ने बिल पर अपनी राय जाहिर की। आईएमए गोरखपुर शाखा के अध्यक्ष डॉ. जेपी जायसवाल ने कहा कि एनएमसी बिल गरीब विरोधी, लोक विरोधी, अलोकतांत्रिक है। इस बिल के माध्यम से केंद्र सरकार समस्त अधिकारों को केंद्रीकृत कर अपने पास रखना चाहती है। सचिव डॉ. आरपी शुक्ला ने कहा कि मनोनीत सदस्यों के कारण एनएमसी बिल में राज्य का प्रतिनिधित्व नगण्य हो गया है। ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Gycx3gAA

📲 Get Gorakhpur News on Whatsapp 💬