[indore] - कई डॉक्टरों को भी करोड़ों की चपत लगाई है आशीष दास ने

  |   Indorenews

इंदौर. पिनेकल डिजायर व पिनेकल ड्रिम्स प्रोजेक्ट में कई डॉक्टर व अन्य प्रतिष्ठित लोग भी धोखाधड़ी का शिकार हुए है। ताजा दो एफआईआर में पुलिस ने 116 पीडि़तों के नाम शामिल किए है। इस बीच ईडी व आयकर ने भी अपनी जांच शुरू कर दी है। पुलिस आरोपी आशीष दास को लेकर दिल्ली गई है जहां से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिलने की संभावना जताई जा रही है।

पिनेकल ड्रिम्स में लोगों के फ्लैट बेचे गए थे, कई लोगों से फ्लैट की राशि ली लेकिन न रजिस्ट्री कराई न कब्जा दिया गया। इसी तरह पिनेकल डिजायर में भूखंड बेचकर धोखाधड़ी की गई। दोनों प्रोजेक्ट लाने वाली जेएसएम देवकान कंपनी के डायरेक्टर आशीष दास व पुष्पेंद्र वढेरा पर पहले करीब 8-9 केस दर्ज हुए थे। शुक्रवार रात विजनयगर व लसूडिय़ा पुलिस ने दो और केस दर्ज कर लिए। दोनों केस में करीब 116 फरियादी शामिल है और इनके साथ करीब सवा सौ करोड़ की धोखाधड़ी हुई है। एक हजार करोड़ से ज्यादा की धोखाधड़ी के मामले में पुलिस ने आशीष दास को गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया है। पुलिस टीम उसे लेकर दिल्ली गई है। पुलिस ने अब जो केस दर्ज किए उसमें डॉ. साकेत जती, डॉ. प्रमोद झंवर, डॉ. भूपेंद्र राय के साथ ही अन्य प्रतिष्ठित लोग शामिल है जिनके साथ धोखाधड़ी हुई है। पुलिस आरोपियों की कंपनी की सभी संपत्तियों की जानकारी निकाल रही है। इन्होंने जो गाडिय़ां खरीदी थी वह भी जब्त हो चुकी है। सभी संपत्तियों की जानकारी निकाली जा रही है ताकि इन्हें जब्त कराकर पीडि़तों को न्याय दिलाया जा सके। एक हजार करोड़ से अधिक का घोटाला होने के कारण ईडी व आयकर ने भी अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने अभी दो केस दर्ज कर लिए है लेकिन इस मामले में आरोपियों के अन्य साथियों के नाम शामिल करने को लेकर भी तेजी से जांच चल रही है। फरार पुष्पेंद्र की तलाश में भी कई जगह छापे मारे गए है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/6VVD3QAA

📲 Get Indore News on Whatsapp 💬