[jabalpur] - कमाल के स्कूल, पढ़ने से पहले लगानी पड़ती है झाड़ू

  |   Jabalpurnews

गोटेगांव/जबलपुर। स्वच्छता अभियान की कार्यशाला में समस्त सरकारी शालाओं के प्रधान पाठकों को निर्देशित किया गया है कि वह अपनी-अपनी शालाओं को पूरी तरह से साफ-स्वच्छ रखें। सरकारी स्कूलों में मौजूद सुविधाघरों को भी साफ स्वच्छ रखते हुए कार्य दिवस पर उनको खोल कर रखें, ताकि दिल्ली से स्वच्छता का सर्वे करने के लिए आने वाली टीम को किसी प्रकार की गंदगी नजर नहीं आए।

बारी-बारी से करते हैं सफाई

बीइओ केके मेहतो ने उक्त निर्देश शिक्षको को प्रदान कर दिए हैं, लेकिन जब पत्रिका प्रतिनिध ने सरकारी स्कूलों में मौजूदा स्थिति का अवलोकन किया तो गोटेगांव ब्लॉक के किसी भी सरकारी स्कूल में भृत्य का पद स्वीकृत नहीं होने से वहां पर एक भी भृत्य कार्यरत नहीं है फिर इन सरकारी शालाओं में सफाई का कार्य कैसे होता है। पत्रिका प्रतिनिधि ने सरकारी स्कूलों का अवलोकन किया तो देखने को मिला कि सरकारी स्कूल में आने वाले बच्चे पढ़ाई शुरू करने के पहले भवन के की सफाई का कार्य करते हैं। इसके बाद ही वह कमरे के अंदर प्रवेश करते हैं। यह कार्य शाला में पढने वाले बच्चे बारी-बारी से कार्य दिवस पर करते हंै। इसके कारण किसी एक बच्चे पर सफाई करने का भार नहीं पड़ता है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/qnjOagAA

📲 Get Jabalpur News on Whatsapp 💬