[jaipur] - सत्ता पर काबिज रहने की कोशिश में जुटी भाजपा के सामने जातिगत समीकरणों को साधने की चुनौती

  |   Jaipurnews

सुरेश व्यास/जयपुर। प्रदेश में सत्ता पर काबिज रहने की जीतोड़ कोशिश में जुटी भाजपा के लिए जातिगत समीकरणों को साधने की चुनौती का सामना भी करना पड़ रहा है। खासकर पार्टी के परम्परागत वोट बैंक माने जाने वाले राजपूत समुदाय की नाराजगी पार्टी के लिए बड़ी चिंता है। यह चिंता बीकानेर के दो दिवसीय दौरे पर गई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के चेहरे पर भी दिखाई दी।

खासकर राजपूत समाज की आनंदपाल एनकाउंटर और फिर प्रदेशाध्यक्ष मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गजेंद्रसिंह शेखावत की नामजदगी के मुद्दे पर तकरार के बाद बढ़ी नाराजगी अब भी पार्टी के लिए चिंता का बड़ा कारण है। शायद इसे भांपते हुए ही मुख्यमंत्री ने अपने दौरे की शुरुआत ही राजपूत राठौड़ों की कुलदेवी नागणेची माता के मंदिर में माथ टेककर कर की। राजे ने फिर बीकानेर के कद्दावर राजपूत नेता देवीसिंह भाटी को भी पूरी तवज्जो दी। एक ही कार्यक्रम में 6 बार भाटी का नाम लिया। बीकानेर पूर्व की भाजपा विधायक सिद्धीकुमारी को 'बाई सा' कहकर पुकारा। समाज के लोगों से घुलने मिलने की उनकी कोशिश भी कुछ नाराजगी कम करने के प्रयासों को इंगित करती दिखाई दी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/5crpBQAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬