[kotdwar] - तिमल्याणी की पेयजल लाइन चोक, पानी के लिए भटक रहे ग्रामीण

  |   Kotdwarnews

यमकेश्वर। यमकेश्वर ब्लॉक के ग्राम तिमल्याणी में पिछले दो सप्ताह से पेयजल का संकट है, जिससे ग्रामीणों को परेशानी उठानी पड़ रही है। बरसात में भी पेयजल की आपूर्ति न होने से ग्रामीणों में विभाग के प्रति रोष व्याप्त है। ग्रामीणों का आरोप है कि विभागीय अधिकारियों से कई बार शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। ग्रामीणों ने पेयजल आपूर्ति सुचारू करने की मांग की है।

तिमल्याणी के दिनेश खत्री पूर्व ग्राम प्रधान, संजय सिंह, भगत सिंह, सतेंद्र सिंह, धनवीर सिंह, महेंद्र सिंह, गजेंद्र सिंह ने बताया कि वर्ष 1990 में कंडारा तोक के प्राकृतिक जलस्रोत से तिमल्याणी गांव के 75 परिवारों के लिए एकल पेयजल योजना बनाई गई थी। इससे ग्राम तिमल्याणी स्थित प्राथमिक विद्यालय को भी पानी की सप्लाई की जाती है। लेकिन पिछले दो सप्ताह से गांव में पेयजल आपूर्ति ठप है। लोगों का कहना है कि क्षेत्र में बारिश से पाइप लाइन कहीं क्षतिग्रस्त तो कहीं चोक हो गई हैं। पेयजल आपूर्ति न होने से ग्रामीणों के साथ ही प्राथमिक विद्यालय में भोजन माताओं को एक किलोमीटर दूर प्राकृतिक जल स्रोत से पानी ढोना पड़ रहा है। गांव में 15 दिनों से पानी नहीं आ रहा है। इसकी शिकायत जल संस्थान कोटद्वार के अधिकारियों के साथ ही यमकेश्वर में तैनात फीटर से की गई, लेकिन अब तक पाइप लाइन ठीक नहीं कराई जा सकी। ग्रामीणों ने पेयजल आपूर्ति सुचारू करने की मांग की है। ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Y8p1yAAA

📲 Get Kotdwar News on Whatsapp 💬