[mau] - बंद रहे निजी अस्पताल, परेश्ाान हुए मरीज

  |   Maunews

नेशनल मेडिकल कमीशन बिल के विरोध में शनिवार को स्थानीय इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से संबंधित सभी निजी चिकित्सक हड़ताल पर रहे। उन्होंने बैठक कर बिल का विरोध किया और जुलूस निकाल कर कलेक्ट्रेट पहुंचे। जिलाधिकारी से मुलाकात कर उन्हें मांगों का ज्ञापन सौंपा। उधर, हड़ताल के चलते बंद हुए नर्सिंग होम के चलते दूरदराज से आने वाले मरीजों और उनके तीमारदारों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

आईएमए भवन में हुई बैठक में अध्यक्ष डा. पीएल गुप्ता ने कहा कि केंद्रीय समिति के आह्वान पर एनएमसी बिल के विरोध में जिले के चिकित्सक हड़ताल पर रहे। हड़ताल पूरी तरह सफल रही है। कहा कि निजी प्रैक्टिस करने वाले चिकित्सकों ने अपने क्लीनिक बंद रखे। कहा कि सरकार मेडिकल काउंसिल आफ इंडिया के स्थान पर एनएमसी बिल लाने जा रही है। यह बिल आ जाने से खासकर मेडिकल सेवा के क्षेत्र में पूर्व से कार्य करने वाले चिकित्सक व गरीब मरीजों के समक्ष परेशानी पैदा हो जाएगी। यूनानी, होम्योपैथिक या आयुर्वेदिक पद्धति वाले डाक्टर भी ब्रिज कोर्स करने पर एमबीबीएस चिकित्सक की तरह ही हो जाएंगे। कहा कि यह बिल आम आदमी विरोधी है। इसके लागू होने से मेडिकल कॉलेजों में प्रबंधन का कोटा बढ़ जाएगा। परिणामस्वरूप गरीब बच्चे चिकित्सक नहीं बन पाएंगे।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/BaWm2AAA

📲 Get Mau News on Whatsapp 💬