[uttarakhand] - मानसून सीजन में कर्मचारियों की कमी ने बढ़ाई प्रशासन और लोगों की परेशानी

  |   Uttarakhandnews

एक तरफ जहां मानसूनी सीजन अपने पूरे शबाब पर है, वहीं आपदा प्रभावित क्षेत्रों तक राहत पहुंचाने वाली प्रशासनिक इकाइयां, कर्मचारियों की कमी से जूझ रही है. बागेश्वर जिले की 6 तहसीलों का प्रभार एक नायब तहसीलदार के पास है. ऐसे में जिले की प्रशासनिक व्यवस्थाओं का आसानी से अंदाजा लगाया जा सकता है. सरकार ने आखिरी छोर पर बैठे व्यक्ति तक सुविधाएं पहुंचाने के लिए बागेश्वर में नई तहसीलों का गठन तो कर दिया, मगर इन तहसीलों में आज तक ढांचागत सुविधाएं विकसित नहीं हो पायी हैं. हालात ये हैं कि जिले की ये 6 तहसील मात्र एक नायब तहसीलदार के भरोसे चल रही हैं.

इन सभी 6 तहसीलों में ना ही अब तक पूर्णकालिक तहसीलदार तैनात हुए है और न ही इनमें पूरा स्टाफ है. जिसके चलते प्रमाणपत्र बनाने जैसे छोटे काम के लिए भी जनता कई दिनों तक तहसीलों के चक्कर काटने को मजबूर हैं. ...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/JzCwJAAA

📲 Get uttarakhandnews on Whatsapp 💬