🇲🇲 म्यांमार में हुए रोहिंग्याओं के नरसंहार के लिए सैन्य अधिकारियों पर चले 🏛 मुकदमा- यूएन 🇺🇳

  |   Hindiworldnews

म्यांमार में रोहिंग्याओं पर हुए बर्बर अत्याचार के लिए संयुक्त राष्ट्र ने सेना को पूरी तरह से जिम्मेदार माना है । इस बात का खुलासा एक यूएन की एक रिपोर्ट के जरिए हुआ । यूएन ने कहा कि रोहिंग्याओं के नरसंहार के लिए म्यांमार की सेना के अधिकारियों पर मुकदमा चलना चाहिए ।

जांचकर्ताओं की पहली रिपोर्ट के साथ यह सिफारिश की गई है। इसे संयुक्त राष्ट्र अधिकारियों की अब तक की सबसे सख्त भाषाओं में से एक माना जा रहा है । इन अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट में स्पष्ट कहा कि म्यामांर में मानवाधिकार उल्लंघन किया गया। पिछले अगस्त में रोहिंग्याओं के विरुद्ध खून-खराबा शुरु हुआ था।

संयुक्त राष्ट्र समर्थित मानवाधिकार परिषद के तहत काम करने वाले तीन सदस्यीय तथ्यों की पड़ताल करनेवाली दल ने अपनी रिपोर्ट में घर-बार छोड़ चुके सैकड़ों रोहिंग्याओं की दास्तान, सैटलाइट फुटेज और अन्य सूचनाएं जुटाई हैं।

शरणार्थी रोहिंग्याओं की दास्तान, सैटलाइट फुटेज के उपयोग के माध्यम टीम ने अपराधों का ब्योरा तैयार किया है जिसमें सामूहिक बलात्कार, गांवों को जलाया जाना, लोगों को दास बनाया जाना, बच्चों को उनके मां-बाप के सामने ही मार दिया जाना आदि शामिल हैं। टीम को म्यांमार में पहुंच नहीं दी गयी और उसने इसकी निंदा की।

इस रिपोर्ट की प्रति म्यांमार सरकार को मिल गई है। टीम ने एक अनुमान का हवाला दिया जिसके हिसाब से हिंसा में 10,000 लोगों की जान चली गयी। जांचकर्ताओं ने मुकदमा के लिए म्यांमार की सेना के छह शीर्ष अधिकारियों के नाम लिए हैं।

फोटो के लिए देखें- http://v.duta.us/3aZkHwAA

📲 Get विश्व समाचार on Whatsapp 💬