[agar-malwa] - हवाओं में क्यों गूंजा ओम नम: शिवाय

  |   Agar-Malwanews

सुसनेर. हवा में गूंजता हर-हर महादेव, शिव शंभू, ú नम: शिवाय की स्वर लहरिया, कहार के रूप में पालकी उठाए जनप्रतिनिधि व धरा पर मौजूद भक्तों पर हेलिकॉप्टर से होती फूलों की बारिश, सड़क पर नाचती भूतों की बारात, दुल्हन-सा सजा नगर, श्रद्धा व आस्था से डीजे की धुन पर झूमती हजारों की भीड़ और फूलों से सजी पालकी में राजसी ठाठ से सवार नगराधिपति बाबा नीलकंठेश्वर व ओंकारेश्वर महादेव लाव-लश्कर के साथ नगर का हाल जानने निकले तो नगरवासियों ने पलक-पावड़े बिछाकर उनका स्वागत किया। पालकी में विराजमान बाबा की एक झलक पाने के लिए भक्त आतुर थे।

यह नजारा था भादौ के पहले सोमवार को शिव भक्त मंडल के तत्वावधान में निकाली गई शाही सवारी का। सवारी सवारी अड्डा गली, लुहार दरवाजा, स्टेट बैंक चौराहा, हाथी दरवाजा, पांच पुलिया क्षेत्र होते हुए शुक्रवारिया बाजार, सराफा बाजार, सत्यनारायण गली होते हुए पुन: मंदिर पहुंची। दूल्हे के रूप में पालकी में सजा भगवान भोलेनाथ का मुघौटा आकर्षण का केंद्र था। इस बार पालकी विशेष रूप से सजाई गई थी। रास्ते भर महिलाओं, लोगों ने बाबा का पूजन किया और आशीर्वाद लिया। भक्तगण आगे नाच रहे तो महिलाएं मंगल गीत गा रही थी। आर्यवीर सेवा दल पिपिलिया नानकार व आर्यवीर दल सुसनेर क्षेत्र के अखाड़ों के कलाकारों ने करतब दिखाए। सवारी के रात ८ बजे मंदिर पहुंचने पर पुन: आरती कर प्रसादी बांटी गई। सवारी की सुरक्षा व्यवस्था पुलिस ने संभाल रखी थी। जवानों के द्वारा संभाल रखी थी। इसके पूर्व सुबह भगवान का अभिषेक व पूजन किया गया। दोपहर 12 बजे रुद्राभिषेक किया गया। इसके बाद ६४ माता मंदिर में चौसठ योगिनी की पूजा की गई। 12.30 भगवान के मुघौटे को ढोल-ढमाके के साथ कल्याण जीनिंग फैक्ट्री लाया गया और यहां से शाही सवारी शुरू हुई।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/X5BqTAAA

📲 Get Agar-malwa News on Whatsapp 💬