[ambala] - निगम में शामिल टुंडला मंडी, सुविधाएं गांवों से भी बदतर

  |   Ambalanews

निगम में शामिल टुंडला मंडी में सुविधाएं गांवों से भी बदत्तर

अंबाला कैंट। कहने को टुंडला मंडी का इलाका नगर निगम में शामिल है, मगर यहां सुविधाएं गांवों से भी बदतर हैं। टुंडला मंडी का प्रवेश द्वार कहे जाने वाले खेड़ा मंदिर के समक्ष गंदगी के ढेर लगे हुए हैं। गांव के लोगों में जिस मंदिर को लेकर आस्था बसी है उसी क्षेत्र में निगम द्वारा कोई सफाई अभियान नहीं चलाए जा रहे हैं जिस कारण क्षेत्र के निवासियों में भारी रोष है।

इलाका वासी नरेंद्र, सतीश, शिवम, प्रेमलता, कुसुम, दविंद्र आदि ने बताया कि वार्ड नंबर 12 में टुंडला मंडी का इलाका आता है, मगर यहां सुविधाओं के नाम पर लोगों को कुछ नहीं दिया जा रहा। उन्होंने बताया कि खेड़ा मंदिर के समक्ष नारकीय स्थिति बनी हुई है। यहां पर न तो सफाई है और न ही निगम कर्मी इस ओर आते हैं। कूड़ेदान तक नहीं रखा गया है जिस कारण निवासियों में भारी रोष है। उन्होंने बताया कि खेड़ा मंदिर में लोगों द्वारा अपने खर्च से इंटरलॉक टाइलें लगवाई जा रही हैं जबकि मंदिर का एक हिस्सा कच्चा है। उन्होंने बताया कि खेड़े के समक्ष पहले तालाब होता था, मगर अब यह गंदगी से अटा है और झाड़ियां व घास उगी हुई है। उन्होंने बताया कि समस्याओं के समाधान के लिए नगर निगम अधिकारियों के अलावा मंत्री अनिल विज के समक्ष भी गुहार लगाई गई है, मगर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। पूर्व में वार्ड पार्षद को भी समस्या से अवगत कराया गया था। केवल चुनाव के दिनों में इस ओर नेता आदि रुख करते हैं जबकि उसके बाद सब भूल जाते हैं। क्षेत्रवासियों ने यहां व्यापक स्तर पर सफाई अभियान चलाने और नगर खेड़ा मंदिर के समक्ष जगह को पक्का करने की मांग नगर निगम से की है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/P9EffgAA

📲 Get Ambala News on Whatsapp 💬