[bageshwar] - आपदा की मार से 12 परिवारों ने घर छोड़ा

  |   Bageshwarnews

बागेश्वर। आपदा की मार से 12 और परिवार बेघर हो गए हैं। खतरे को देखते हुए प्रभावित परिवारों ने अपने घर छोड़ कर संबंधियों के यहां शरण ली है। मलबे से इनके आवासीय भवन कभी भी दफन हो सकते हैं। प्रभावितों ने जिपं अध्यक्ष और पूर्व विधायक के साथ डीएम को अपनी व्यथा बताई और विस्थापन की मांग की।

सोमवार को जिपं अध्यक्ष हरीश ऐठानी, पूर्व विधायक कपकोट ललित फर्स्वाण के नेतृत्व में प्रभावितों ने डीएम रंजना राजगुरु से मिलकर व्यथा बताई। बड़ेत के तोक खारबगड़ के ग्रामीणों ने बताया कि पहाड़ी दरकने से भारी मलबा आवासीय क्षेत्र में आ गया है। आंगन और घरों में मलबा भर गया है। इससे आठ परिवारों के आवासीय मकान खतरे की जद में हैं। गडेरा के खलई तोक के ग्रामीणों ने बताया कि चार परिवारों के आवासीय भवनों के पीछे भारी मलबा आ गया है। खतरे को देखते हुए प्रभावितों ने अपने मकान छोड़कर गांव में अपने संबंधियों के घर शरण ली है। मलबे से राशन, कपड़े, बर्तन आदि घरेलू सामान बर्बाद होने की भी आशंका है। प्रभावितों ने खतरे का कारण बने मलबे को हटाने और नुकसान की भरपाई करने की मांग की।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/-_qlcwAA

📲 Get Bageshwar News on Whatsapp 💬