[bilaspur] - इस तरह करें घटनास्थल पर जांच, आरोपी को पकड़ने में फिर नहीं लगेगा समय: डीएसपी शर्मा

  |   Bilaspur-Chattisgarhnews

बिलासपुर. यदि घटना स्थल सुरक्षरित रहे, तो भौतिक साक्ष्य संकलन करने में समस्या नहीं होगी। साक्ष्य के आधार पर आरोपी की पहचान करने में भी समय नहीं लगेगा। हत्या, चोरी, डकैती और चारसौबीसी के मामलों में आरोपियों तक पहुंचने और कोर्ट में अपराध सिद्ध करने में फिंगर प्रिंट की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। यह बातें सोमवार से बीयू के ऑडिटोरियम में फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट डीएसपी सुनील शर्मा ने कही। ऑडिटोरियम में दो दिवसीय रेंज स्तरीय फ्रिंगर प्रिंट कार्यशाला की शुरुआत सोमवार को हुई।

इसमें पहले दिन 300 पुलिस अधिकारी-कर्मचारी शामिल हुए।

बीयू के ऑडिटोरियम में सोमवार सुबह साढ़े 10 बजे एएसपी नीरज चन्द्राकर व अर्चना झा ने रेंज स्तरीय कार्यशाला का शुभारंभ किया। रेंज स्तरीय कार्यशाला इसमें बिलासपुर, रायगढ़, जांजगीर-चांपा, कोरबा और मुंगेली जिले के लगभग 300 पुलिस कर्मी शामिल हुए। रायपुर से आए फ्रिंगर प्रिंट डीएसपी सुनील कुमार शर्मा, निरीक्षक अजय कुमार साहू, बिलासपुर की विद्या जौहर और एसआई धर्मेंद्र कुमार भारती ने पुलिस कर्मियों को अपराध में फिंगर प्रिंट के महत्व बताए।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/WrXb5QAA

📲 Get Bilaspur-Chattisgarhnews on Whatsapp 💬