[chandigarh] - जघन्य अपराध की स्थिति में एफआईआर से पहले प्राथमिक जांच जरूरी नहीं: हाईकोर्ट

  |   Chandigarhnews

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने एक रेप पीड़िता की याचिका पर फैसला सुनाते हुए यह स्पष्ट कर दिया कि जघन्य अपराध की स्थिति में एफआईआर से पहले प्राथमिक जांच जरूरी नहीं है।

याचिका दाखिल करते हुए पीड़िता ने कहा कि वह लोगों के घर में मेड का काम करती थी। एक दिन गलती से उसके फोन से एक नंबर मिल गया। इसके बाद लगातार उस व्यक्ति के उसे कॉल आने लगे। उस व्यक्ति ने उसे नौकरी का झांसा दे बठिंडा बुलाया और वहां पर दो लोगों ने उसके साथ रेप किया। जब तीसरा व्यक्ति रेप का प्रयास कर रहा था तो वह किसी तरह से वहां से भागी और खुद का मेडिकल करवाया। इसके बाद वह पुलिस के पास पहुंची लेकिन पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने से इनकार कर दिया। इसके बाद याची ने मजिस्ट्रेट के पास शिकायत दी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/nkRrswAA

📲 Get Chandigarh News on Whatsapp 💬