[chhindwara] - झोलाछाप डाक्टर से जान को खतरा

  |   Chhindwaranews

छिंदवाड़ा. उमरानाला. इन दिनों उमरानाला नगर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में बंगाली डाक्टरों (झोलाछाप) के इलाज की दुकानदारी जोर-शोर पर चल रही है। यहां पर अधिकत्तर मरीजों का उपचार झोलाछाप कर रहे है। इन झोलाछाप ने ग्रामीण क्षेत्रों में पिछले लगभग 20 से 30 वर्षों से अपना कब्जा जमा रखा है।

ग्रामीणों को बीमारियों के कम पैसे में उपचार का लालच देकर बाद में मनमानी रकम वसूल कर रहे है। बताया जाता है कि इन बंगाली डॉक्टरों के पास डिग्री नहीं है। मोहखेड़ ब्लॉक के शासकीय स्वास्थ्य अधिकारियों की मिलीभगत से ग्रामीण क्षेत्रों में इन बंगाली डॉक्टरों के हौंसले बुलंद होते जा रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार मोहखेड़ ब्लॉक के महलपुर, मोहखेड़, सोहागपुर राजेगांव, चारगांव, कामठी सहित दो दर्जन से अधिक ग्रामों में इन बंगाली डाक्टरों ने दुकानदारी फैला रखी है। पीढ़ी-दर-पीढ़ी इन बंगाली डॉक्टर का पूरा परिवार ग्रामीण क्षेत्रों में अपना कब्जा जमाए हुए हैं गांवों में चिकित्सका सुविधा नहीं होने के कारण मजबूरी में ग्रामीणों को इनसे उपचार कराना पड़ता है। वहीं ये झोलाछाप ग्रामीणों की मजबूरी का फायदा उठाकर मनमानी फीस वसूल करते है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zwLscwAA

📲 Get Chhindwara News on Whatsapp 💬