[durg] - ऐसा पड़ोसी सबको मिले, वे नहीं होते तो आज तीन लोगों की जान चली जाती

  |   Durgnews

दुर्ग. डिपरापारा के शास्त्री चौक में मंगलवार की शाम एक कच्चे मकान का छप्पर भरभरा का गिर गया। इससे मकान के भीतर सो रहे पिता सहित दो बेटियां घायल हो गई। एस्बेस्टस (सीमेंट की शीट)और खपरैल का छप्पर गिरने की जोरदार आवाज से पड़ोसियों को घटना का पता चला और उन्होंने तत्परता दिखाते हुए तीनों को बाहर निकाल लिया। पिता के सिर और पैर में चोट आई है, जबकि दोनों बेटियों को मामूली चोट आई है।

घटना डिपरापारा दुर्ग की

घटना शाम करीब सवा चार बजे की है। डिपरापारा शास्त्री चौक के पास रहने वाला नारायण क्षत्रिय (40 साल) अपने घर के एक कमरे में आराम कर रहा था। वहीं उसकी बड़ी बेटी गौरी क्षत्रिय (14 साल) स्कूल में छुट्टी होने के कारण उसी कमरे में पढ़ाई कर रही थी। जबकि छोटी बेटी मुस्कान (10 साल) खेल रही थी। इस बीच सीमेंट की शीट और खपरैल से बना छप्पर भरभरा कर गिर गया। जिससे नारायण और उसकी दोनों बेटियां दब गई। घटना के चलते नारायण के हाथ व सिर में चोट आई है। मुस्कान को भी सिर में चोट लगी है, जबकि गौरी को मामूली चोट आई है। घटना के समय नारायण की पत्नी शशि काम में गई थी।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/1KNxIwAA

📲 Get Durgnews on Whatsapp 💬