[gwalior] - पांच साल नेताओं ने रबर स्टांप की तरह किया इस्तेमाल, फिर निकाल फेंका मक्खी की तरह

  |   Gwaliornews

शिवपुरी। जिला पंचायत शिवपुरी की अध्यक्ष रहीं जूली आदिवासी को शिवपुरी जिले के नेताओं ने पांच साल तक रबर स्टांप की तरह इस्तेमाल किया और फिर दूध में गिरी मक्खी की तरह निकाल कर फेंक दिया। सर्वविदित है कि जूली को जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने में अहम भूमिका पूर्व विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने निभाई थी तथा जिला पंचायत के सभी कार्यों में बढ़-चढकऱ सहयोग भी किया, लेकिन अब वे यह कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं कि हमने तो 6 माह बाद जूली को कोलारस के पूर्व विधायक रामसिंह यादव को ही सौंप दिया था, क्योंकि वो उन्हीं के फार्म हाउस की महिला कर्मचारी थी। साथ ही उन्होंने विधायक पुत्र पर जूली की पट्टे वाली जमीन को हड़पने का आरोप लगाया। वहीं कोलारस विधायक महेंद्र यादव ने आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि हमने जूली की पट्टे की जमीन अपने नाम नहीं करवाई। इन हालातों के बीच आदिवासियों के लिए काम करने वाले एकता परिषद के जिला संयोजक का कहना है कि आदिवासी को तो नेता अपने मोहरे की तरह इस्तेमाल करते हैं और उन्हें उनके ही हाल पर छोडकऱ अपना फायदा उठा लेते हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/oq9sJQAA

📲 Get Gwalior News on Whatsapp 💬