[jaisalmer] - बारानी भूमि आबंटन पर रोक हटाने को लेकर पूर्व विधायक सांगसिंह ने किया यह दावा

  |   Jaisalmernews

जैसलमेर. पूर्व विधायक सांगसिंह भाटी ने दावा किया है कि मुख्यमंत्री की ओर से राजस्थान गौरव यात्रा के दौरान जैसलमेर जिले में बारानी भूमि आबंटन पर गत 42 वर्षों से लगी रोक को हटाने में उनके प्रयास प्रभावी रहे। स्थानीय सर्किट हाउस में भाटी ने पत्रकारों के साथ बातचीत में दावा किया कि जिले के भूमिहीन लोगों को जमीन आबंटन करवाने के लिए वे लगातार प्रयासरत थे और उनकी इस मांग को मुख्यमंत्री ने अपनी हालिया जैसलमेर यात्रा में स्वीकार कर लिया। पूर्व विधायक ने बताया कि वर्ष 2008 में जैसलमेर विधायक रहते हुए उन्होंने तत्कालीन भाजपा सरकार से जिले के उपनिवेशन क्षेत्र में बारानी भूमि के आबंटन पर लगी रोक को हटवाया था और करीब 27 हजार जिलावासियों के आवेदन पत्र भी भरवाए लेकिन इसके बाद आई कांग्रेस सरकार ने रोक को बहाल करते हुए आवेदन पत्रों को खारिज करने का काम किया। भाटी ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार के सामने उन्होंने बार-बार भूमि आबंटन पर से रोक हटाने के लिए मांग उठाई और गत जनवरी में हजारों जिलावासियों को साथ लेकर प्रदर्शन भी किया। इसके बाद मुख्यमंत्री ने इसे गंभीरता से लिया। उन्होंने कहा कि जैसलमेर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की टिकट के लिए दावेदारी करेंगे लेकिन अगर पार्टी ने टिकट नहीं दिया तो बागी बनकर चुनाव नहीं लड़ूंगा तथा पार्टी जिसे भी उम्मीदवार बनाएगी, उसका साथ दूंगा। भाटी ने इस मौके पर मौजूदा भाजपा विधायक के कामकाज पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। उन्होंने पोकरण विधायक शैतानसिंह राठौड़ के उस बयान से नाइत्तेफाकी जताई जिसमें उन्होंने गत दिनों कहा था कि, उन्हें एक समुदाय विशेष के वोट नहीं चाहिए। भाटी ने कहा कि भाजपा का तो नारा ही है, सबका साथ सबका विकास। इस दौरान चतरसिंह पीर मूलाना, चन्दनसिंह मूलाना और जालमसिंह खुहड़ी मौजूद थे। भाटी ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार के सामने उन्होंने बार-बार भूमि आबंटन पर से रोक हटाने के लिए मांग उठाई और गत जनवरी में हजारों जिलावासियों को साथ लेकर प्रदर्शन भी किया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/s_tAPAAA

📲 Get Jaisalmer News on Whatsapp 💬