[jharkhand] - 85 वर्षीय पत्नी दिवंगत पति को दिलाएगी स्वतंत्रता सेनानी होने का सम्मान

  |   Jharkhandnews

नमक सत्याग्रह और भारत छोड़ो आंदोलन में महात्मा गांधी और सुभाष चंद्र बोस जैसे नेताओं के साथ स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाले चक्रधरपुर के देवेंद्र नंदा को अंग्रेजों से लड़ने में जितनी परेशानी नहीं हुई होगी, उतनी परेशानी आजाद भारत में व्यस्था से लड़ने में हुई. आजादी के बाद उन्हें जीते जी स्वतंत्रता सेनानी का सम्मान नहीं मिला. 1996 में उनका निधन हो गया. इसके बाद पिछले 22 साल से उनकी पत्नी अपने बेटे के साथ अपने पति को सम्मान दिलाने के लिए वर्तमान राज्य सरकार से गुहार लगा रही है. अब तक की सरकारों ने दिवगंत स्वतंत्रता सेनानी को सम्मान नहीं दिया. लेकिन रघुवर सरकार ने इस दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी और उनकी पत्नी को मान-सम्मान देने का फैसला कर लिया है....

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/EkraeAAA

📲 Get Jharkhand News on Whatsapp 💬