[kanker] - जर्जर भवन में खतरे के बीच पढ़ रहे स्कूली बच्चे, फिर भी शिक्षा विभाग कर रहा अनदेखा

  |   Kankernews

बासनवाही. छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले के दूरस्थगांवों में स्कूल भवनों की स्थिति अच्छी नहीं है। नरहरपुर विकास खंड के ग्राम कोटलभट्टी प्राथमिक शाला भवन जर्जर हो गया है। छत की प्लास्टर उखड़ कर गिरने लगी है। सरिया दिखने लगी है। कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होने से बच्चे जर्जर भवन में बैठकर पढऩे विवश हैं। कई बार मांग करने के बाद भी जर्जर प्राथमिक शाला भवन की मरम्मत तक नहीं कराई जा रही है। जिला मुख्यालय से 40 किमी दूर ग्राम कोटलभट्टी प्राथमिक शाला भवन जर्जर हो चुका है। भवन काफी पुराना है।

गांव में प्राथमिक शाला 1958 से संचालित है। पहले 1992-93 से स्कूल का भवन बनकर तैयार हुआ लेकिन अब यह भवन जर्जर हो चुका है। इसकी जगह पर नवीन भवन बनाने की मांग प्रतिवर्ष की जा रही है लेकिन मांग पूरी नहीं हो रही है। स्कूल प्रशासन के साथ ग्रामीण पंचायत प्रतिनिधि भी नवीन भवन की मांग कर रहे हैं। बच्चे भी चाहते हैं कि उन्हें जर्जर भवन में पढऩा न पड़े।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/VCkuCAAA

📲 Get Kankernews on Whatsapp 💬