[kushinagar] - देवरिया बालिका गृह कांड,जिला प्रशासन बैक फुट पर

  |   Kushinagarnews

वृद्धा आश्रम से मानसिक रोगियों को वाराणसी भेजने की तैयारी

  • वृद्धाश्रम और जिला अस्पताल की कर रहे परिक्रमा, बरेली से नहीं मिल पाई अनुमति, अन्य जगह की चल रही तलाश

कसया। देवरिया के मां विंध्यवासिनी महिला एवं बालिका संरक्षण गृह की लड़कियों से देह व्यापार का मामला उजागर होने बाद आठ अगस्त को 24 लोगों को कुशीनगर में यूपी भारती विकास संस्थान की तरफ से कसया में संचालित वृद्धाश्रम में शिफ्ट कराया गया था। जांच में मानसिक रोगी मिले लोगों को वाराणसी भेजने की अब तैयारी शुरू हो गई है।

समाज कल्याण निदेशालय उत्तर प्रदेश के ज्वाइंट डायरेक्टर पीसी उपाध्याय के आदेश पर देवरिया से यहां लाकर 24 लोगों को शिफ्ट कराया गया था। साथ में यह भी कहा गया था कि इन्हें जल्द उनकी शारीरिक और मानसिक स्थिति के मुताबिक प्रदेश में संचालित अन्य आश्रय गृहों में भेजवा दिया जाएगा, लेकिन वृद्धाश्रम में शिफ्ट कराए 21 दिन बीत गए है, इसके बावजूद अब तक उनकी स्थिति के मुताबिक कहीं व्यवस्था नहीं हो सकी है। जबकि 24 में से 22 की जिला अस्पताल में सीएमओ डॉक्टर हरिचरण सिंह के आदेश पर डाक्टरों की टीम गठित कर उनके मानसिक और शारीरिक सहित गर्भावस्था की जांच की गई थी। जांच के बाद इनमें से 12 मानसिक रोगी महिलाएं और एक पुरुष पाया गया था, वहीं पांच की संख्या में कम उम्र की लड़कियां थीं। जिला समाज कल्याण अधिकारी टीके सिंह ने बताया कि इन्हें आश्रय गृह और बालिका संरक्षण गृह भेजवाने के लिए प्रमुख सचिव समाज कल्याण, निदेशालय समाज कल्याण, आयुक्त गोरखपुर,डीएम कुशीनगर और देवरिया सहित अन्य जिम्मेदार लोगों को जानकारी दे दी गई है। बरेली में जगह का अभाव है,इसलिए नहीं भेजा सकता,अब वाराणसी को पत्र भेजा गया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/nRWQaAAA

📲 Get Kushinagar News on Whatsapp 💬