[mahoba] - मथुरा वृंदावन की झांकियां रही आकर्षण का केंद्र

  |   Mahobanews

महोबा। कीरत सागर मैदान पर दिल्ली नरेश पृथ्वीराज चौहान को पराजित करने के बाद से वीर योद्धा आल्हा-ऊदल की याद में मनाए जाने वाले ऐतिहासिक कजली मेले के आगाज से पूर्व शोभायात्रा निकाले जाने वाली परम्परा आज भी कायम है। सोमवार को निकाली गई भव्य शोभायात्रा के दौरान घोड़े पर सवार ऊदल का प्रतिरूप आकर्षण का केंद्र रहा। हाथ में तलवार लहराते हुए चल रहे ऊदल को देखने के लिए हजारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी।

शोभायात्रा में चल रहे राजकुमारी चंद्रावली के डोले की रक्षा के लिए हाथ में तलवार लिए ऊदल कभी आगे-कभी पीछे तलवार लहराता हुआ दिखाई दिया। ऊदल के प्रतिरूप को देखने के लिए शोभायात्रा मार्ग में जगह जगह लोग खड़े रहे। शोभायात्रा दौरान हाथी, घोड़े, ऊंट और ट्रैक्टरों में स्कूली बच्चों द्वारा सजाई गई झांकियां कजली जुलूस की शोभा बढ़ा रही थी। मथुरा वृंदावन से आए लोगों ने मयूर नृत्य, शंकर पार्वती और राधा-कृष्ण की झांकियां सजाई। इन झांकियों ने भीड़ को खासा आकर्षक किया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/DyMCLwAA

📲 Get Mahoba News on Whatsapp 💬