[mahoba] - शहर में दूसरे दिन मना रक्षाबंधन का पर्व, बहनों ने बांधी राखी

  |   Mahobanews

महोबा। शहर में रक्षाबंधन पर्व दूसरे दिन मनाने की चली आ रही परंपरा के अनुसार सोमवार को बहनों ने भाइयों की कलाई में राखी बांधी। दूर दराज से आकर बहनों ने भाइयों के प्रति स्नेह जताया और तिलक लगाकर मुंह मीठा कराया। भाइयों ने भी बहनों को उपहार भेंट किए।

गौरतलब है कि रक्षाबंधन के दिन 837 साल पहले दिल्ली नरेश पृथ्वीराज चौहान ने महोबा में चढ़ाई कर दी थी। तक रक्षाबंधन के दिन भीषण युद्घ हुआ था। जिससे बहनों ने भाइयों को राखी नहीं बांधी थी। दूसरे दिन चंदेल राजा की सेना ने दिल्ली नरेश धूल चटा दी थी। तब दूसरे दिन यहां रक्षाबंधन का पर्व बनाया गया था। तभी से शहर में दूसरे दिन रक्षाबंधन मनाने की परंपरा चली आ रही है। सोमवार को सुबह से ही मिठाई और राखी की दुकानों में लोगों की भीड़ जुटी रही। आल्हा चौक स्थित मिठाई की दुकानों में लोगों को मिठाई खरीदने के लिए अपनी बारी का इंतजार करना पड़ा। भाइयों ने बहनों की कलाई में राखी बांधी। पूरे दिन बहनों का भाइयों के घर पहुंचने का सिलसिला चलता रहा। भइयों ने उपहार भेंट किए। दोपहर बाद लोगों ने परिवार सहित कजली मेले की शोभायात्रा में शामिल होकर आनंद लिया।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/zwipmwAA

📲 Get Mahoba News on Whatsapp 💬