[mandi] - एनटीपीसी को चेताया, ध्वाल-रोपा मार्ग न खोला तो घेराव

  |   Mandinews

सुंदरनगर (मंडी)। कोलबांध परियोजना के साथ सटा ध्वाल-रोपा मार्ग करीब एक माह से बंद पड़ा है। मार्ग को खोलने को लेकर एनटीपीसी की ओर से अभी तक कोई गंभीरता नहीं दिखाई है। इसके कारण ग्रामीणों में एनटीपीसी प्रबंधन के खिलाफ गहरा रोष है। ग्रामीणों ने युवक मंडल ध्वाल के प्रधान देशराज के नेतृत्व में एसडीएम राहुल चौहान को ज्ञापन सौंप कर मार्ग खुलवाने की मांग उठाई है। कहा कि मार्ग को बहाल नहीं किया जाता है तो ग्रामीण इकट्ठे होकर एनटीपीसी प्रबंधन का घेराव करेंगे। पिछले दिनों हुई भारी बरसात के कारण मार्ग पर भारी मलबा आने से यह मार्ग बाधित हो गया। इसके बाद ग्रामीण एनटीपीसी से मार्ग को खोलने की मांग करते आ रहे हैं लेकिन उनकी एक नहीं सुनी जा रही है। ग्रामीणों ने अपने स्तर पर मलबा हटवाया लेकिन एनटीपीसी की ओर से गंभीरता नहीं दिखाई गई। इस कारण रोपा, ध्वाल सहित सनीहन, बटवाड़ा तक के लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। स्कूली बच्चों के साथ-साथ आम लोग भी प्रभावित हो रहे हैं। ध्वाल से रोपा मार्ग की लंबाई करीब पांच किलोमीटर है। लेकिन मार्ग के बंद होने के कारण ध्वाल पहुुंचने के लिए करीब 12 किलोमीटर का अतिरिक्त सफर तय करना पड़ रहा है। युवक मंडल ध्वाल के प्रधान देशराज ने बताया कि ध्वाल में सतलुज नदी पर बना मैत्री पुल मार्ग एनटीपीसी के नियंत्रण में आता है। इस क्षेत्र में कोलबांध परियोजना के विस्थापित रहते हैं। उन्होंने कहा कि एनटीपीसी का दायित्व बनता है कि इस मार्ग को लोगों की सुविधा को देखते हुए जल्द से जल्द बहाल किया जाए। बीमार होने की परिस्थितियों में भी समस्याओं से दो चार होना पड़ रहा है। कहा कि इस संबंध में एसडीएम सुंदरनगर से मार्ग खुलवाने की मांग उठाई है। अगर मार्ग नहीं खोला जाता है तो एनटीपीसी प्रबंधन के कार्यालय का घेराव किया जाएगा। एनटीपीसी के प्रबंधक जन संपर्क प्रवीण रंजन का कहना है कि बरसात के कारण बार-बार भूस्खलन हो रहा है। मार्ग को बहाल करने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Jx7ThgAA

📲 Get Mandi News on Whatsapp 💬