[rajsamand] - राजस्थान के इस गांव में बेटियों के जन्म पर रोपे जाते हैं सैकड़ों पौधे

  |   Rajsamandnews

अश्वनी प्रतापसिंह, राजसमन्द. निर्मल ग्राम पिपलांत्री में सोमवार को अनूठा पौधरोपण कार्यक्रम हुआ। यहां पंचायत क्षेत्र में पिछले एक साल में जन्मीं ४३ बेटियों में से प्रत्येक के नाम १११ पौधे लगाकर उनकी देखरेख का संकल्प लिया गया। इस मौके पर उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी तथा सांसद हरिओम सिंह राठैड़ भी बतौर अतिथि मौजूद थे। मंत्री ने जलग्रहण प्रबन्धन प्रशिक्षण केन्द्र में आयोजित जिला स्तरीय वन महोत्सव कार्यक्रम में ग्रामीणों, विद्यालयी छात्र-छात्राओं तथा छत्तीसगढ़ से आए १३० ग्राम पंचायतों के सरपंचों को संबोधित कर कहा कि पिपलांत्री में बेटी जन्म पर लगाए जाने वाले एक सौ ग्यारह पौधे बेटियों के नाम को हजारोंं वर्षों तक अमर कर जाते हैं। जिस तरह से इस गांव में बेटी जन्म लेने पर पौधारोपण कर समाज और सम्पूर्ण पंचायत में खुशियां मनाई जाती हैं, वह दूसरी पंचायतों के लिए प्रेरणादायक है। उन्होंने छात्राओं का आह्वान किया कि वे मन लगाकर पढ़ाई करें और सरकार की लैपटॉप, स्कूटी तथा साइकिल वितरण योजना का लाभ लें। राज्य सरकार की राजश्री योजना की भी जानकारी दी। सांसद राठौड़ ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है। अधिकाधिक संख्या में पेड़ लगाएं तथा प्राकृतिक संसाधनों का संरक्षण करें। पिपलांत्री में पौधारोपण, जलग्रहण व बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान ने अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान कायम की है। जिला प्रमुख प्रवेश कुमार सालवी ने कहा कि प्रकृति का संतुलन बनाने पौधरोपण करना होगा, ताकि प्राकृतिक आपदाओं से बचा जा सकेगा।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/BJj5tQAA

📲 Get Rajsamand News on Whatsapp 💬