[siddharthnagar] - अशोभनीय टिप्पणी पर मौर्य समाज में रोष, ज्ञापन

  |   Siddharthnagarnews

गृहमंत्री के बयान की निंदा की, लोस की कार्रवाई से रिकार्ड हटाने की मांग

सिद्धार्थनगर। लोकसभा में सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य पर केंद्रीय गृहमंत्री द्वारा की गई अशोभनीय टिप्पणी से नाराज मौर्य समाज के लोगों ने सोमवार को राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। इसके साथ ही टिप्पणी को लोकसभा की कार्यवाही से भी हटाने की मांग की।

अखिल भारतीय मौर्य महासभा के जिलाध्यक्ष सुरेंद्र कुमार मौर्य की अगुवाई में सोमवार को राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी कुणाल सिल्कू को सौंपा गया। ज्ञापन में कहा गया है कि केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह 20 जुलाई को अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा करते हुए लोकसभा में मौर्य समाज के संस्थापक प्रथम चक्रवर्ती सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य के विषय में बोलते हुए अपमान जनक टिप्पणी कर मौर्य समाज ही नहीं भारत के को भी अपमानित किया है। गृहमंत्री ने कहा था कि वह भेड़-बकरी चराते थे और किसी उच्च जाति के नहीं थे, फिर भी राजा बने। ज्ञापन में गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा लोकसभा में सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य की जाति पर अशोभनीय टिप्पणी संबंधी कार्रवाई हटाने का अनुरोध किया है। ज्ञापन पर राष्ट्रीय अध्यक्ष अजय मौर्य, प्रदेश प्रभारी बलराम मौर्य, प्रदेश अध्यक्ष संदीप सैनी, प्रदेश महासचिव त्रिलोक चन्द्र कुशवाहा, प्रदेश कोषाध्यक्ष विवेक शाक्य, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष महकार सैनी, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अजय कुमार मौर्य, प्रदेश उपाध्यक्ष संजय मौर्य, प्रदेश सचिव आकाश शाक्य, जिला महासचिव लवकुश सैनी, जिला कोषाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद मौर्य आदि हस्ताक्षर थे। इस दौरान नितिन मौर्या, राम अधीन मौर्या, राम नरेश मौर्या, कौलेश्वर मौर्या, राम नारायन मौर्य, राम दास मौर्य, सुदामा मौर्य, गयादीन मौर्य, रामू मौर्य, अजीज मौर्य, अर्जुन मौर्य, संतोष मौर्य, सुखलाल मौर्य, हरिनाथ मौर्य, श्याम सुंदर मौर्य, राजाराम मौर्य, राम विलास मौर्य, अखिलेश मौर्य, राजेन्द्र मौर्य, राधेश्याम मौर्य, प्रेम प्रकाश सैनी, राजेश सैनी, प्रकाश सैनी आदि मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ZAb44wAA

📲 Get Siddharthnagar News on Whatsapp 💬