[sonebhadra] - बारिश से एक पुल व चार पुलिया बही

  |   Sonebhadranews

बीजपुर । म्योरपुर ब्लाक के बीजपुर क्षेत्र में रविवार की देर रात हुई तेज बारिश के कहर से एक पुल व चार पुलिया बह गए। जिसकी वजह से दर्जन भर से अधिक गांवों का संपर्क टूट गया। झमाझम हुई बरसात से नदियों व नालों में उफान है और गांव में जलभराव से कई कच्चे मकान भी गिर गए हैं। इलाके में बारिश से हुई क्षति के आंकलन के लिए राजस्व विभाग की टीम सोमवार की सुबह मौके पर पहुंच गई है। स्थिति का आकलन कर प्रभावित लोगों को मदद भी पहुंचाई जा रही है।

म्योरपुर ब्लाक के नेमना, नकटू, मोखना, डूमरचुआ और शांति नगर क्षेत्र में रविवार रात 12 बजे के बाद मूसलाधार बारिश हुई। करीब चार घंटे हुई बरसात से नदियों व नालों में उफान आ गया। पानी का दबाव बढने से ग्राम पंचायत डोड़हर के पाल बस्ती के बास बनी पुलिया बह गई। इस पुलिया के बहने से पानी की तेज धारा आगे बढ़ी और इसी गांव में केपी पाल, रमेश जायसवाल व श्रीराम यादव के घर के समीप नाले पर बनी तीन पुलिया भी टूट गई। पानी का जबरदस्त दबाव बढ़ने से मोखना के पास बना पुल भी बह गया। इस पुल के बहने से डोड़हर से जरहां गांव को जोडने वाले संपर्क मार्ग का आवागमन ठप हो गया। आवागमन ठप होने से काजलपानी, दिघुल, राजो, लहबरवा समेत दर्जनों टोलों का संपर्क टूट गया। पानी के साथ बह कर आई मिट्टी व राख खेतों में फैलने से कई क्षेत्रफल में बोई गई धान की फसल चौपट हो गई । धान के अलावा मक्का, तिल, उड़द और अरहर की भी फसल को काफी क्षति पहुंची है। गांव में जलभराव से बीजपुर निवासी जमुना गुप्ता व नरायन का कच्चा मकान गिर गया। एनटीपीसी आवासीय परिसर में स्थित संत जोसेफ कांवेंट स्कूल की चहारदीवारी ढह गई। बरसात से हुई तबाही की जानकारी मिलने के बाद दुद्धी उपजिलाधिकारी रामचंद्र के निर्देश पर सोमवार को नायब तहसीलदार, कानूनगो व लेखपाल प्रभावित क्षेत्रों में सोमवार को पहुंच गए। राजस्व कर्मियों द्वारा क्षति का आकलन कर रिपोर्ट बनाई जा रही है। एसडीएम ने बताया कि कुछ लोगों का मकान भी गिरा है। लेखपालों की रिपोर्ट आने के बाद उन्हें आपदा राहत कोष से मदद दी जाएगी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/0ZSckgAA

📲 Get Sonebhadra News on Whatsapp 💬