[ujjain] - मंगलवार को बंद रहेंगे शहर के ये 300 स्कूल, जानिए क्यों

  |   Ujjainnews

उज्जैन। जिला अशासकीय शाला संगठन की ओर से चार सूत्रीय मांगों को लेकर मंगलवार को शहर के करीब 300 निजी स्कूल बंद रहेंगे। यह स्कूल शासन की ओर से फीस अधिनियम एक्ट में 10 फीसदी तक फीस बढ़ाने, आरटीई में दो साल से भुगतान नहीं होने, प्रदेश में 1500 हायर सेकंडरी स्कूल की मान्यता खत्म करने तथा स्कूलों में प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की मांग कर रहे हैं। हालांकि अशासकीय शाला संगठन के बंद पर निजी स्कूलों की ओर से अवकाश की सूचना जारी नहीं होने से बंद को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

जिला अशासकीय शाला संगठन ने पिछले दिनों अपनी चार मांगों को लेकर स्कूल बंद रखने की चेतावनी दी थी। मांगें पूरी नहीं होने पर संगठन की ओर से मंगलवार को बंद का आह्वान किया गया है। संगठन का कहना है कि मप्र शासन ने प्रदेश में 1500 स्कूलों की मान्यता बीच सत्र में खत्म कर दी है। इमसें उज्जैन के भी दो स्कूल शामिल हैं। बीच सत्र में स्कूल की मान्यता खत्म होने से हजारों बच्चों का भविष्य खतरे में पड़ गया है। आरटीई का शासन की ओर से दो साल से भुगतान नहीं किया गया है। जबकि हाइकोर्ट ने स्पष्ट आदेश दिए हैं कि साल खत्म होते ही भुगतान किया जाए। आरटीई एक्ट में सत्र खत्म होते ही भुगतान का प्रावधान है, लेकिन इसका पालन नहीं हो रहा है। शासन की ओर से फीस अधिनियम में 10 फीसदी ही फीस बढ़ाने का नियम लागू किया। इस महंगाई में फीस 25 फीसदी तक बढ़ाए जाने का प्रावधान किया जाए। संगठन की ओर से शासन से स्कूल प्रोटेक्शन एक्ट लागू करने की मांग भी कर हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/jzRE0gAA

📲 Get Ujjain News on Whatsapp 💬